वेनेजुएला में राष्ट्रपति निकोलस मादुरो के खिलाफ जारी विरोध के बीच रविवार को प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच भयानक झड़पें देखने को मिली। 2014 के बाद से यह पहली सरकार विरोधी प्रदर्शन है।

राष्ट्रपति मादुरो के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हजारों प्रदर्शनकारियों ने सड़कों पर 'तानाशाही मादुरो' और 'अभी चुनाव कराओ' जैसै नारे लगाए। प्रदर्शनकारी प्रतिबंधित नेता हेनरिक केपरिल्स के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे हैं।

इससे पहले शनिवार को प्रदर्शनकारियों ने 'अब और तानाशाही नहीं' का नारा लगाया और नेशनल गार्ड रॉयट पुलिस पर पथराव भी किया। पुलिस उन्हें मार्च करने से रोक रही थी। पुलिस ने जवाब में प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस और पानी के फव्वारे छोड़े जिससे आठ लेन के राजमार्ग पर उथल-पुथल मच गई आौर वहां पर प्रदर्शन कर रहे हजारों प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षा नाकेबंदी को तोडऩे की कोशिश की।

केपरिल्स इससे पहले दो बार राष्ट्रपति का चुनाव लड़ चुके हैं और वह अभी मिरांडा स्टेट के गर्वनर हैं। केपरिल्स 2018 में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव को लेकर अभी से ही जनता में अपनी पकड़ बना रहे हैं और इसी के चलते वह हजारों प्रदर्शनकारियों के साथ प्रदर्शन कर रहे हैं। लेकिन शुक्रवार को ही उनके राजनीतिक कार्यालय पर 15 साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था।