इस साल रक्षा बंधन का त्योहार 22 अगस्त को मनाया जाएगा। रक्षा बंधन पर इस बार दिन भर बहनें अपने भाईयों के राखी बांध सकेंगी। इस बार शाम 5.58 मिनट तक राखी का शुभ मुहूर्त है। इस बार राखी की तिथि एक दिन पहले 21 अगस्त को लग जाएगी और 22 अगस्त को शाम 5 बजे तक रहेगी। इसलिए उदयातिथि रहने  के कराण 22 अगस्त को यह त्योहार मनाया जाएगा। इस बार रक्षा बंधन पर घनिष्ठा और शोभन योग बन रहे हैं। इन दोनों योग बनने के कारण इस त्योहार का शुभफल बढ़ जाएगा। 

हिंदू पंचांग के अनुसार, सावन के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि 21 अगस्त की शाम 03 बजकर 45 मिनट से शुरू होगी। जो कि 22 अगस्त की शाम 05 बजकर 58 मिनट तक रहेगी। रक्षा बंधन उदया तिथि में 22 अगस्त को मनाया जाएगा।

पौराणिक महत्त्व की बात करें तो भगवान कृष्ण को महारानी द्रोपदी द्वारा शिशुपाल के वध के बाद कटे हुए अंगुलियों पर साड़ी का पट्टी बांधा गया था। जिसे रक्षा सूत्र मानते हुए भगवान कृष्ण ने भविष्य में रक्षा का वचन दिया था। फलस्वरूप चीर हरण के दौरान उन्होंने द्रोपदी की लाज की रक्षा की थी। वहीं महारानी दुर्गावती ने हुमायूं को रक्षा सूत्र बांधकर रक्षा करने का वचन लिया था। समय आने पर हुमायूं ने एक भाई का धर्म निर्वाह करते हुए दुर्गावती की रक्षा की थी।