साल 2021 का पहला चंद्र ग्रहण 26 मई को लगने जा रहा है। यह ग्रहण खग्रास चंद्र ग्रहण है, और बैशाख पूर्णिमा भी इसी दिन होगी। यह ग्रहण वृश्चिक राशि और अनुराधा नक्षत्र में होगा इसलिए इस नक्षत्र यानि अनुराधा नक्षत्र और वृश्चिक राशि पर इसका प्रभाव सबसे अधिक होगा। 

बता दें कि इस ग्रहण का प्रभाव वृश्चिक राशि और अनुराधा नक्षत्र पर सबसे ज्यादा पड़ेगा। इसलिए यदि आपकी राशि वृश्चिक है या आप अनुराधा नक्षत्र में जन्मे हैं तो इस दौरान सावधानी बरतें। 

भारत के पूर्वी राज्यों पश्चिमी बंगाल, अरुणांचल, नागालैंड, उड़ीसा, मिजोरम, मणिपुर, आसाम, त्रिपुरा और मेघालय में यह ग्रहण देखा जा सकता है हालांकि बहुत कम समय के लिए। इसलिए भारत के इन्हीं राज्यों के लिए यम सूतक मान्य माना जाएगा।