मेघालय में नाबालिक से रेप आैर सेक्स रैकेट में संलिप्तता के आरोप में जेल में बंद विधायक जूलियस डाेरफांग इस बार सलाखों के पीछे से ही चुनाव लड़ेंगे। राज्य में निर्दलीय विधायक जूलियस डोरफांग को नाबालिक के साथ रेप आैर सेक्स रैकैट में कथित रूप से जुड़े होने के आरोप में 2017 में जेल जाना पड़ा था। 2017 में राज्य की पुलिस  ने डोरफांग के साथ 19 लोगों को पाॅस्कों एक्ट के तहत गिरफ्तार किया था। अभी तक गिरफ्तार सभी लोग जेल में ही है। निर्दलीय विधायक जूलियस डोरफांग मौहाटी विधानसभा सीट से विधायक है आैर सत्ताधारी कांग्रेस को अपना समर्थन दिए हुए है।

 


पाॅस्को एक्ट समेत कई धाराआें में विधायक पर मामला दर्ज हैं। जब जूलियस डोरफांग माेहाटी विधानसभा चुनाव के लिए आयोजित रैली को संबोधित करने पहुंचे तो सब उन्हें देखकर हैरान रह गए। सबसे हैरानी की बात तो यह है कि इस रैली काे महिला समर्थको ने ही आयोजित की थी आैर महिला समर्थक द्वारा आयोजित इस रैली में सैंकड़ो की तादात में महिलाएं थी जबकि जूलियस नाबालिक के साथ रेप आैर सेक्स रैकेट में संलिप्तता के आरोप में जेल में बंद हैं। इसके बावजूद चुनावी रैली में महिलाआें का भाग लेना हैरानी की बात है। जब उनसे इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वो किसी साजिश का शिकार हुए है उन्हें फसाया जा रहा है।


आपको बता दें कि आरोपी विधायक डोरफांग ने 2007 में उग्रवाद का छोड़कर आत्मसमर्पण किया था। इसके बाद 2013 में उन्होंने मौहाटी विधानसभा सीट से चुनाव जीता। अब विधायक डोरफांग जेल से ही अपने कुछ समर्थक के जरिए ही चुनावी सभाआें का आयोजन करवा रहे हैं।