क्रिप्टोकरंसी बिटकॉइन ने लोगों को रातों रात करोड़पति बना दिया, लेकिन अब यह कई लोगों की कंगाली का कारण भी बन सकता है। इस क्रिप्टोकरंसी के डिजिटल वॉलेट का पासवर्ड भूलने के कारण कई लोगों के करोड़ रुपए का बैलेंस जीरो गया है। 

विशेषज्ञों के अनुसार इस समय दुनिया में करीब 1.85 करोड़ बिटकॉइन में से 20 फीसदी वॉलेट में फंसे हुए हैं। हाल ही सामने आए ऐसे कई मामलों ने लोगों को सचेत करने के साथ ही चौका दिया है। सैन फ्रांसिस्को निवासी कंप्यूटर प्रोग्रामर स्टीफन थॉमस के पास 22 करोड़ डॉलर के बिटकॉइन हैं, लेकिन वह अपनी उस हार्ड ड्राइव (आयरन-की) का पासवर्ड भूल चुके हैं, जिनमें उनके डिजिटल वॉलेट की निजी कुंजियां छिपी हैं। 

आयरन की अनलॉक करने के दस अवसर ही मिलते हैं। थॉमस आठ बार कोशिशें कर चुके हैं और अब उनके 7002 बिटकॉइन तक पहुंचने के सिर्फ दो ही मौके बचे हैं। थॉमस कहते हैं कि उनकी आंखों के सामने दिन रात, सोते -जागते सिर्फ संभावित पासवर्ड की कुंजियां ही चलती रहती हैं। ऐसा ही कुछ हुआ है लॉस एंजोलिस में उद्यमी ब्रैड यासर का कहना है कि उनके पास करोड़ों के बिटकॉइन हैं, लेकिन वे पासवर्ड भूल गए हैं। ऐसे में करोड़पति होते हुए भी उनके साथ में कुछ नहीं है। गौरतलब है कि बिटकॉइन का साफ्टवेयर पेचीदा एलगोरिदम पर काम करता है। इससे हर एक निवेशक का एक पता और निजी जानकारी सिर्फ वॉलेट बनाने वाला ही जानता है।