विधानसभा चुनाव में भाजपा से टिकट नहीं मिलने से नाराज जामताड़ा के पूर्व विधायक विष्णु प्रसाद भैया ने पार्टी छोड़ दी। विष्णु भैया ने मीडिया को बताया कि भाजपा को हराने के लिए वे स्वयं चुनावी मैदान में उतरेंगे या फिर किसी ऐसे व्यक्ति को चुनाव लड़ाएंगे, जो क्षेत्र का विकास दिन दुनी व रात चौगुनी करें। उन्होंने जामताड़ा से बाबूलाल मरांडी के चुनाव लड़ने के संकेत दिए।

कहा कि एक-दो दिनों में इसका खुलासा हो जाएगा। विष्णु ने पार्टी छोड़ने से पहले जामताड़ा-दुमका रोड स्थित आवास में कार्यकर्ताओं से रायशुमारी की। कार्यकर्ताओं से कहा कि वे उनकी इच्छा के विरूद्ध कोई काम नहीं करेंगे। कार्यकर्ता चाहेंगे तो चुनाव लड़ेंगे। पूर्व विधायक ने कहा कि उनकी इच्छा है कि जामताड़ा विधानसभा से कोई हैवीवेट नेता चुनाव लड़े, ताकि जामताड़ा का विकास रुके नहीं।


उन्होंने कहा कि उनका विधायक बनने से ज्यादा जरूरी है जामताड़ा का विकास। एक दो दिनों में साफ कर देंगे की स्वयं चुनाव लड़ेंगे या किसी विकास करनेवाले को चुनाव लड़ाएंगे। वे निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे या किसी पार्टी के टिकट पर, इसका खुलासा एक-दो दिनों में करने की बात कही। भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा सामूहिक इस्तीफा देने की बात पर विष्णु भैया ने कहा कि वे किसी को ये नहीं कहेंगे कि पार्टी से इस्तीफा दे। पार्टी में रह कर भी समर्थन कर सकते हैं, किसी को दबाव नहीं देंगे।
 
पाकुड़ के भाजपा जिलाध्यक्ष देवीधन टुडू ने बुधवार को झामुमो का दामन थाम लिया। सोमवार को टुडू ने भाजपा के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था, जिसे प्रदेश नेतृत्व ने अस्वीकार कर दिया था। टुडू महेशपुर विधानसभा सीट से तीसरी बार टिकट की उम्मीद लगाए बैठे थे। टिकट नहीं मिलने से उन्होंने पाकुड़िया में महेशपुर विधायक स्टीफन मरांडी व जिलाध्यक्ष श्याम यादव के समक्ष लगभग 100 समर्थकों के साथ झामुमो ज्वाइन कर लिया। टुडू 2009 व 2014 में महेशपुर सीट से भाजपा के टिकट पर लड़े थे, पर हार गए।