Peel P50 कार दुनिया की सबसे छोटी कार है। इस कार की सबसे बड़ी खासियत है तेल पर होने वाला खर्च, जो दूसरी कारों के मुकाबले बेहद कम है। इस कार का नाम Peel P50 रखा गया है, जो 134 सेंटीमीटर लंबी, 98 सेंटीमीटर चौड़ी और 100 सेंटीमीटर ऊंची है। जबकि इसकी पेट्रोल टंकी सिर्फ 5 लीटर की है। 31 वर्षीय Alex Orchin इस क्यूट कार के मालिक हैं। वह रोजाना के काम के लिए ब्रिटन के ससेक्स (Sussex) शहर में अपनी इसी नीले रंग की कार में यात्रा करते हैं। एलेक्स 5 फुट 11 इंच लंबे हैं, और जब इस कार के सामने खड़े होते हैं तो यकीन करना मुश्किल हो जाता है कि वो इस कार में बैठ पाएंगे या नहीं।

बता दें कि जो भी इस कार को देखता है, तो वह उसका खूब मजाक उड़ाता है। लेकिन एलेक्स उन्हें यही जवाब देते हैं कि उनकी नन्ही कार सबसे किफायती है। यह कार लगभग 42 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज देती है। इस तीन पहिए और 4.5 हॉर्सपावर इंजन वाली कार का निर्माण ब्रिटेन की 'पील इंजीनियरिंग कंपनी' करती है। बता दें, इस कार का निर्माण 1962 से 1965 तक हुआ था। हालांकि, 2010 में एक बार फिर से इसका निर्माण शुरू हो गया।

यह भी पढ़े :12 साल की बच्ची की COVID-19 पॉजिटिव पाए जाने के 24 घंटे बाद मौत

यह कार वन सीटर है, जिसमें एक सुटकेस रखने की भी जगह नहीं। इसके चलते एलेक्स को स्टीयरिंग की एक तरफ ही अपने पैरों को एडजस्ट करना पड़ता है। उन्होंने बताया कि 'टॉप गियर शो' में उन्होंने जेरेमी क्लार्कसन को ये कार चलाते देखा था, जिसके बाद उन्हें ये कार बहुत पसंद आई। बीते वर्ष उन्होंने इसी कार से पूरा ब्रिटेन घूमा था। इस क्यूट कार की टॉप स्पीड 37 किमी प्रतिघंटा है।

एलेक्स ने बताया कि उन्हें बचपन से ही पुरानी, विंटेज और अलग दिखने वाली गाड़ियां पसंद आती हैं। उनके पास 1914 Model T और 1968 Morris Minor कार भी है। एलेक्स ने आगे कहा कि उन्हें पी50 कार छोटे साइज की वजह से बहुत पसंद आई। लेकिन जब उन्होंने इसकी असल कीमत पता चली तो उनके होश उड़ गए। दरअसल, कीमत 84 लाख रुपये से ज्यादा थी! इसलिए बाद में उन्होंने अपने ही शहर के एक शख्स से सेकंड हैंड कार खरीदी।

यह भी पढ़े : CSK vs PBKS: चेन्नई सुपर किंग्स ने लगाई हार की हैट्रिक, जडेजा ने इन्हें ठहराया हार के लिए ​जिम्मेदार

एलेक्स ने बताया कि उन्हें बचपन से ही पुरानी, विंटेज और अलग दिखने वाली गाड़ियां पसंद आती हैं। उनके पास 1914 Model T और 1968 Morris Minor कार भी है। एलेक्स ने आगे कहा कि उन्हें पी50 कार छोटे साइज की वजह से बहुत पसंद आई। लेकिन जब उन्होंने इसकी असल कीमत पता चली तो उनके होश उड़ गए। दरअसल, कीमत 84 लाख रुपये से ज्यादा थी! इसलिए बाद में उन्होंने अपने ही शहर के एक शख्स से सेकंड हैंड कार खरीदी।

एलेक्स बताते हैं कि यह कार हमेशा से लोगों को आकर्षित रही है, जो भी इसे देखता है उनसे कहता है कि यह आपकी सोच से भी छोटी नजर आती है। वह कहते हैं कि कार के हैंडब्रेक के बगल में वह मुश्किल से ही एक शॉपिंग बैग रख पाते हैं, और कुछ नहीं। बता दें, साल 2010 में इस कार को दुनिया की सबसे छोटी कार घोषित किया गया था, जिसका नाम 'गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' में भी दर्ज है।

Image credit- SWNS