कोरोना महामारी से न‍िपटने को उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अलग से 'कोविड केयर फंड' बनाने की घोषणा की है। मुख्‍यमंत्री ने कोविड केयर फंड बनाने की जानकारी खुद दी। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि कल रात्रि में ही 'कोविड केयर कोष' के लिए सारी नियमावली तैयार हुई है और आज इसको उत्‍तर प्रदेश सरकार कैबिनेट में मंजूरी देने जा रही है। इस फंड में पहले ही बेसिक शिक्षा विभाग ने ₹76,14,55,537 की इतनी बड़ी राशि उपलब्ध करवाने की घोषणा की है।


उन्‍होंने कहा कि कोरोना की इस लड़ाई में सभी का बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना और इस लड़ाई को आगे बढ़ाना अत्यंत महत्वपूर्ण है। इस जंग में प्रदेश में गठित 11 टीमें बहुत बेहतर तरीके से कार्रवाई को आगे बढ़ा रही हैं। मुख्‍यमंत्री का कहना है कि हमारा प्रयास है कि हर गरीब के चेहरे पर खुशी ले आएं।


मुख्‍यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस के विरुद्ध लड़ाई 1-2 दिन या 1 माह की नहीं है। यह लंबी लड़ाई होगी और यह एक अवसर है कि इस बीमारी के खिलाफ लड़ाई में हम अपने स्वास्थ्य विभाग की मजबूती की कार्रवाई को भी तेजी से आगे बढ़ा सकें। 'क्वारंटाइन वाॅर्ड', आइसोलेशन वॉर्ड, वेंटिलेटर्स, N-95 मास्क, पीपीई के निर्माण की कार्रवाई के लिए भी हम एक कार्ययोजना को आगे बढ़ा सकें, इस दृष्टि से कल ही हमने एक 'कोविड केयर कोष' का निर्णय किया।


मुख्‍यमंत्री ने जानकारी दी कि कल ही बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से कोविड केयर कोष बनाने का प्रस्ताव आया और इस प्रकार कोष की शुरुआत हुई। आज सुबह भी मेरे पास कई लोगों के फोन आए कि वे इस कोष में सहयोग देना चाहते हैं।