ड्रग्स आज दुनिया में सबसे बड़ा आतंक है। कई तरह के प्रतिबंध लागू किए जाने के बाद भी इसका व्यापार बंद नहीं हो रहा है। पूरी दुनिया में युवाओं को दर्दनाक मौत की तरफ धकेल रही है। इसी तरह से ड्रग्स का बाप जिसे हम कह सकते हैं उसके बारे में बताए तो यह सीरिया के तानाशाह शाषक बशर अल असद को मालामाल करने वाली ऐसी गोली है जो सीधा काल मौत की और धकेल देती है।

 


यह भी पढ़ें- हिमंता सरकार ने किया मुस्लिम महिलाओं को लेकर बड़ा ऐलान, खुशी से झूम उठी महिलाएं


Bashar al Assad पर एक आरोप है कि उन्होंने सीरिया में जिस नशे की गोली कैप्टागेन के कारोबार को बढ़ावा दिया है जिसने उन्हें तो मालामाल किया है लेकिन एक युवा पीढ़ी को धीरे धीरे मौत की तरफ धकेल दिया है। कई सालों तक इसका इस्तेमाल पश्चिमी देशों में अवसाद यानी डिप्रेशन के लिए किया जाता रहा। हालांकि बाद में जब इसके नशे की क्षमता सामने आई तो इस पर रोक लगा दी गई।

इसका उत्पादन कथित चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) की आमदनी का एक महत्वपूर्ण स्त्रोत है। इसलिए इसे मिडिल ईस्ट में 'ड्रग ऑफ टेरेरिस्ट' का नाम दिया गया। रिपोर्ट के मुताबिक सीरिया के ताकतवर राष्ट्रपति बशर अल असद खुले आम इस नशे की गोली कैप्टागेन का प्रोडक्शन कराने के साथ उसकी बिक्री को बढ़ावा दे रहे हैं। असद नशे के इस अवैध कारोबार के जरिए एक समृद्ध इलाके को नार्को स्टेट में बदल रहे हैं।
यह भी पढ़ें- तुरा के BJP MDC बर्नार्ड एन मारक ने मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा पर लगाए गंभीर आरोप
सीरिया की सरकार ने कई बार कैप्टगॉन के उत्पादन से जुड़े होने का खंडन किया है और कहा है कि जो भी रिपोर्टें इस बारे में प्रकाशित हुई हैं वो सभी झूठ हैं। पिछले साल दिसंबर में सीरिया के गृह मंत्री ने फेसबुक पर लिखा था, 'सीरिया अपराध से लड़ने के अंतरराष्ट्रीय समुदाय के प्रयासों का समर्थन करता है, खासकर ड्रग तस्करी के खिलाफ '।

ईराक के सुरक्षा बलों ने 30 अप्रैल को इस कैप्टॉगन की करीब 60 लाख गोलियां बरामद की थी। इस कार्रवाई के दौरान नशे के कई सौदागरों को गिरफ्तार भी किया गया जो सीरिया से तालुक रखते हैं। पूरे मिडिल ईस्ट में इस गोली का अवैध व्यापार हो रहा है।


इराकी सुरक्षा बलों ने कहा कि 'मादक पदार्थों की तस्करी के बड़े रैकेट का भांडाफोड़ करते हुए कैप्टागन की 60 लाख से अधिक गोलियां जब्त कीं। ईराकी अधिकारियों का कहना है कि उत्तर-पश्चिमी पड़ोसी सीरिया मध्य पूर्व का मुख्य कैप्टागन उत्पादक देश है। इसलिए हमारी टीम हमेशा सतर्क रहती है '।