यूपी के इतिहास में जो कभी नहीं हुआ वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Mod) और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) की सरकार में होने जा रहा है. प्रदेश ही नहीं देश के इतिहास में ऐसा पहली बार होने जा रहा है जब कोई सरकार किसी मंदिर में कैबिनेट (cabinet meeting in a temple) बैठक करने जा रही है. सूबे की योगी सरकार की कैबिनेट बैठक 16 दिसंबर को काशी विश्वनाथ मंदिर में होगी. 

इस बैठक में मुख्यमंत्री के साथ ही दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshav Prasad Maurya) और डॉ दिनेश शर्मा (Dr. Dinesh Sharma)  के साथ ही अन्य मंत्री और अधिकारी मौजूद रहेंगे. आगामी विधानसभा चुनाव में सत्ता में फिर से वापसी की कवायद में जुटी बीजेपी का मास्टरस्ट्रोक भी माना जा रहा है. क्योंकि सरकार ने यह सन्देश देने की कोशिश की है कि लखनऊ के बाद वारणासी प्रदेश की दूसरी राजधानी है.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ज काशी विश्वनाथ धाम (Kashi Vishwanath Dham) कॉरिडोर का शुभारंभ होना है. खुद प्रधानमंत्री इस प्रोजेक्ज का लोकार्पण करेंगे. इस दिन को ख़ास बनाने के लिए योगी सरकार के साथ  ही अधिकारियों और बीजेपी संगठन ने खास योजना बनाई है. इस कार्यक्रम को बीजेपी जन जन तक पहुंचाने का कार्यक्रम बना रही है. लेकिन चुनाव से पहले पूर्वांचल को साधने के लिए योगी सरकार काशी विश्वनाथ धाम में कैबिनेट बैठक कर एक बड़ा सन्देश देना चाहती है.

14 दिसंबर को बीजेपी शासित राज्यों के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काशी विश्वनाथ धाम में बैठक करेंगे और विश्वनाथ की इस नई काशी से सामाजिक समरसता, अखंडता और एकता का संदेश देंगे. इस कार्यक्रम में सीएम के साथ सभी राज्यों के डिप्टी सीएम भी मौजूद रहेंगे. 

अभी जो कार्यक्रम तय हो रहा है, उसके मुताबिक, 13 और 14 दिसंबर को प्रधानमंत्री का दौरा पूरा होने के बाद 16 दिसंबर को यूपी सरकार की कैबिनेट मीटिंग होगी. जिसमे सभी कैबिनेट मंत्री बाबा विश्वनाथ के दर्शन पूजन के बाद धाम परिसर में ये कैबिनेट मीटिंग होगी. इस मीटिंग को लेकर वाराणसी जिला प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है. 

सुरक्षा के लिहाज से भी यहां पुलिस अफसर मसौदा तैयार कर रहे हैं. अब तक यूपी के इतिहास में ऐसा नहीं हुआ है, जब पूरी कैबिनेट लखनऊ छोडकर कहीं किसी मंदिर में पहुंचे और वहां मीटिंग हो. इस कैबिनेट मीटिंग में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ डिप्टी सीएम केशव मौर्या और डिप्टी सीएम डा दिनेश शर्मा भी मौजूद रहेंगे.