अगर आपका खाता भी पब्‍ल‍िक सेक्‍टर के सेंट्रल बैंक ऑफ‍ इंड‍िया (CBI) में है तो यह खबर आपके ल‍िए है. दरअसल, अपनी फाइनेंश‍ियल कंडीशन को बेहतर करने के ल‍िए बैंक की तरफ से बड़ी संख्‍या में शाखाओं को बंद करने का प्‍लान कर रहा है.  Central Bank Of India की देशभर में मौजूद 13 प्रत‍िशत शाखाओं को बंद करने का प्‍लान बना रहा है.

यह भी पढ़े : COVID-19 खत्म हो जाने के बाद, हम CAA लागू करेंगे, वापस जाने का कोई सवाल ही नहीं : अमित शाह


बैंक मार्च 2023 तक देशभर में मौजूद अपनी करीब 600 शाखाओं को बंद करने या नुकसान में चल रहीं ब्रांच का विलय (Merger) करने पर विचार कर रहा है. आपको बता दें सेंट्रल बैंक ऑफ इंड‍िया की देशभर में 4594 शाखाएं (Branches) हैं.

यह भी पढ़े : Name Astrology: अपनी पत्‍नी को जी-जान से प्‍यार करते हैं ये लड़के, इन अक्षरों से शुरू होता है नाम


गौरतलब है क‍ि साल 2017 में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया समेत कई बैंकों को आरबीआई के प्रॉम्पट करेक्टिव एक्शन (PCA) लिस्ट में डाला गया था. इस ल‍िस्‍ट में खराब वित्तीय हालत से गुजरने वाले बैंकों को डाला जाता है.

इस ल‍िस्‍ट में आने वाले बैंकों को कई बंदिशों के साथ वित्तीय हालत में सुधार लाने का मौका दिया गया. 2018 में भी आरबीआई के पीसीए फ्रेमवर्क में 12 बैंकों को रखा गया था. उस समय इनमें 11 सरकारी और एक प्राइवेट बैंक था. जिन्हें अतिरिक्त वर्किंग कैपिटल मुहैया कराई गई.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सेंट्रल बैंक ऑफ इंड‍िया को छोड़कर बाकी सभी बैंक पीसीए (PCA) ल‍िस्‍ट से बहार आ गए. लेक‍िन व‍ित्‍तीय स्‍थ‍ित‍ि में सुधार नहीं होने से सेंट्रल बैंक इस ल‍िस्‍ट में ही रह गया. ऐसे में बैंक की आर्थ‍िक स्‍थ‍ित‍ि में सुधार लाने के मकसद से 13 प्रत‍िशत ब्रांच बंद करने पर व‍िचार क‍िया जा रहा है.