फिनो पेमेंट्स बैंक लिमिटेड ने 10-18 साल तक के बच्चों के लिए बचत खाता योजना (सेविंग्स अकाउंट स्कीम) लॉन्च की है। इस बचत खाता योजना का नाम है 'भविष्य'। सोमवार यानि 6 जुलाई को इस योजना को लॉन्च किया गया था। भविष्य एक सब्सक्रिप्शन आधारित सेविंग्स अकाउंट है जिसमें खाता कम से कम अमाउंट की राशि पर खुलवाया जा सकता है।

फिनो पेमेंट बैंक शुरुआत में उत्तर प्रदेश, बिहार और मध्य प्रदेस में भविष्य सेविंग्स अकाउंट योजना लॉन्च करेगा इसके बाद धीरे-धीरे हर राज्यों में इसे लाया जाएगा। 2011 के जनगणना का उल्लेख करते हुए फिनो बैंक ने बताया कि उस दौरान भारत में 10 से 19 साल के लोगों की आबादी 250 मिलियन थी और 2021 में इसके बढ़ने के अनुमान हैं।

इनमें से 70 फीसदी से ज्यादा की आबादी गांवों में रहती है। इसके कारण ग्रामीण इलाकों में फिनो पेमेंट्स बैंक के लिए इस योजना को लेकर एक बड़ा अवसर है। भारत की बड़ी युवा शक्ति देश के लिए ताकत है। अन्य स्किल्स के साथ-साथ बच्चों और युवाओं को बैंकिंग स्किल्स की भी जानकारी हो जानी चाहिए। फिनो पेमेंट्स बैंक के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर आशीष आहूजा ने ये बताया।

केवल आधार कार्ड के जरिए इस योजना का लाभ उठाया जा सकेगा। इस प्रकार से पेरेंट्स के लिए भी अपने बच्चों के लिए सेविंग्स करना अब आसान व सुविधाजनक हो जाएगा। भविष्य सेविंग्स अकाउंट के जरिए बच्चों के लिए लाई जाने वाली कई सारी सरकारी योजनाओं जैसे छात्रवृत्ति योजनाओं और डीबीटी (डायरेक्ट बिनिफिट ट्रांसफर) योजनाओं का भी लाभ उठाया जा सकेगा।

उन्होंने बताया कि वित्त वर्ष 21 के अंत तक करीब 1 लाख भविष्य बचत खाता खोले जाने की उम्मीद है। इस योजना का लाभ ये है कि बच्चे जब बड़े हो जाएंगे तो वे बड़े होकर अपनी सेविंग्स के आधार पर फायनांशियल लक्ष्य अच्छे से निर्धारित कर पाएंगे।

इस योजना का फायदा ये है कि इसमें मिनिमम अकाउंट बैलेंस की जरूर नहीं है। इसके अलावा इसमें फ्री डेबिट कार्ड भी मिल रहा है जिसे एटीएम की तरह इस्तेमाल किया जा सकेगा। डेबिट कार्ड को आधार से ऑथेंटिकेट किया जाएगा। बच्चों के लिए लाई गई सरकारी योजनाओं का भी लाभ इसके जरिए उठाया जा सकेगा। सुरक्षा के मद्देनजर बच्चे का मोबाइल नंबर होना जरूरी है जो पेरेंट्स से अलग होना चाहिए। 18 साल पूरा होने पर इसमें केवायसी अपडेट कराने पर भविष्य बचत खाते को रेगुलर बचत खाते में भी ट्रांसफर किया जा सकता है।