आज 2 नवंबर, 2021 को धनतेरस (Dhanteras 2021) या धनत्रयोदशी मनाई जा रही है। धनतेरस का मतलब धन और समृद्धि से है। इस दिन सोना (Gold), चांदी (silver) और बर्तन खरीदे जाते हैं। आज से ही दिवाली (Diwali 2021) की शुरुआत होती है। आज का दिन ही सोने और अन्य कीमती धातुओं (gold) में निवेश करने के लिए शुभ माना जाता है।

आपको बता दें कि दिवाली के त्योंहारी सीजन में सोना और चांदी की मांग (Gold silver rate) हर साल बढ़ती है। क्योंकि, भारतीय लोग इस शुभ दिन पर आभूषण या सिक्कों (gold coin) की खरीददारी करते हैं। इतना ही नहीं बल्कि सोने की दुकानों या आभूषण की दुकानों वाले ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए विशेष ऑफर (Dhanteras offers) भी जारी करते हैं। लेकिन आज के समय में सोना और चांदी खरीदने में जरा सावधानी बरतनी चाहिए क्यों ठगी भी हो सकती है। ऐसे में हम आपको बता रहे हैं कि ये कीमती धातुएं खरीदते समय कौनसी बातों का ध्यान रखना चाहिए...सोने की कीमत
सोने की शुद्धता के आधार पर उसकी कीमत का निर्धारण होता है। 24-कैरेट सोना सबसे शुद्ध गुणवत्ता वाला है। सोना खरीदते समय इसकी वर्तमान कीमत के बारे में पता होना चाहिए क्योंकि यह बाजार दर के आधार पर हर दिन बदलती है।हॉलमार्क वाली ज्वैलरी ही खरीदें
हॉलमार्क वाले आभूषण सोने की शुद्धता की गारंटी देते हैं। इसलिए इसे खरीदना सुरक्षित है। सोने की शुद्धता को प्रमाणित करने की प्रक्रिया को हॉलमार्किंग कहते हैं जो भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस)द्वारा जारी की जाती है।शुद्धता का स्तर जांचे
सोने की शुद्धता कैरेट में मापी जाती है। जैसे 24 कैरेट सोना 99.9% शुद्ध होता है। जबकि 22 कैरेट सोना 92% शुद्ध होता है। सोना या उससे बना कोई भी आभूषण खरीदते समय उसकी शुद्धता की जांच करें और उसी के अनुसार कीमत दें।मेकिंग चार्जेज भी पूछें
मेकिंग चार्ज सोने (Gold making charges) के आभूषणों को बनाने पर लगाया जाने वाला श्रम शुल्क (labour charges) होता है। यह शुल्क प्रकार और डिजाइन पर निर्भर करता है। ध्यान रखें कि मशीन से बने सोने के आभूषण मानव निर्मित आभूषणों की तुलना में सस्ते होते हैं।सही वजन देखें
भारत में ज्यादातर सोने के आभूषण वजन के हिसाब से बेचे जाते हैं, हालांकि हीरे और पन्ना जैसे कीमती पत्थर इसे भारी बनाते हैं। इसलिए, गहनों के पूरे वजन के साथ सोने के सटीक वजन की जांच जरूर करे।