वॉट्सऐप दुनिया में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला इंस्टेंट मेसेजिंग ऍप है। वॉट्सऐप की नई प्राइवेसी पालिसी के बाद लोगों ने दूसरे मेसेजिंग ऍप्स का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है।  टेलीग्राम और सिग्नल ऐसे ही ऐप हैं जिनका इस्तेमाल अब बढ़ गया है।  टेलीग्राम में दिए गए कुछ ख़ास फीचर्स की वजह से यूज़र्स इसका इस्तेमाल करने लगे हैं।  इसके यूज़र्स की संख्या धीरे-धीरे बढ़ती जा रही है।  

क्लाउड स्टोरेज: टेलीग्राम में बेहद ही खास फीचर दिया गया है जिसमे यूज़र्स अपनी फाइल्स,फोटोज, डाक्यूमेंट्स और मैसेज को क्लाउड स्टोरेज में रख सकते हैं।  इस क्लाउड स्टोरेज का इस्तेमाल यूज़र्स बाद में कहीं से भी लॉगिन करके कर सकते हैं।  इस क्लाउड स्टोरेज में अनलिमिटेड डेटा स्टोरेज की सुविधा मिलती है।  वॉट्सऐप में अभी ऐसा कोई फीचर मौजूद नहीं है। 

ग्रुप कैपेसिटी: टेलीग्राम यूज़र्स को ग्रुप चैट के लिए ग्रुप, सुपरग्रुप्स और चैनल जैसे फीचर मिलते हैं।  टेलीग्राम ग्रुप में यूज़र 2 लाख मेंबर्स को जोड़ सकता है।  सुपरग्रुप में 200 मेंबर्स को जोड़ने की सुविधा मिलती है, वहीं चैनल फीचर का इस्तेमाल करके यूज़र ब्राडकास्टिंग कर सकता है।  वॉट्सऐप में यूज़र को सिर्फ 250 मेंबर्स तक जोड़ने का विकल्प मिलता है। 

चैट सिक्योरिटी: सीक्रेट चैट फीचर का इस्तेमाल करने के लिए यूज़र को एंड-टू-एंड इनक्रिप्टेड को ऑन करना होता है। इसमें यूज़र द्वारा भेजे गए मैसेज में सेल्फ डिस्ट्रक्ट टाइमर भी लगाया जा सकता है।  टेलिग्राम में सीक्रेट चैट को किसी और को फॉरवर्ड नहीं किया जा सकता और अगर कोई इस चैट का स्क्रीनशॉट लेता है तो यूज़र को इसका नोटिफिकेशन भी मिल जाता है।  वॉट्सऐप पर इस तरह का कोई फीचर मौजूद नहीं है। 

फाइल शेयरिंग: वॉट्सऐप में जहां यूज़र सिर्फ 100 MB तक की ही फाइल किसी को भेज सकता है, वहीं टेलीग्राम में यूज़र 1.5 GB तक की फाइल को किसी के साथ शेयर कर सकते है। . ये फीचर टेलीग्राम को काफी खास बनाता है। 

मल्टी-प्लेटफॉर्म सपोर्ट: टेलिग्राम में यूज़र किसी भी डिवाइस के जरिए अपने नाम और पासवर्ड से लॉगइन कर सकते हैं।  जबकि वॉट्सऐप में यूज़र एक बार में सिर्फ दो डिवाइस यानि फोन और वेब पर ही लॉगइन कर सकते हैं।