हिंदू धर्म के 18 पुराणों में से एक गरुड़ पुराण है। गरुड़ पुराण शास्त्र में भगवान विष्णु और गरुड़ के बीच बातचीत का वर्णन है। गरुड़ एक पक्षी है जिसे भगवान विष्णु का वाहन माना जाता है। गरुड़ पुराण विष्णु पुराण का एक हिस्सा है जिसमें हिंदू धर्म के मृत्यु, पुनर्जन्म और अंतिम संस्कार से संबंधित बातों का जिक्र किया गया है। इस पुराण में भगवान विष्णु ने ये भी बताया है कि वे कौन से कर्म हैं जिसकी वजह से व्यक्ति के जीवन में दरिद्रता आती है।

गंदे और मैले वस्त्र धारण करने वाले लोग
गंदे और मैले वस्त्र धारण करने वाले लोग- गरुड़ पुराण के अनुसार, अगर कोई व्यक्ति हर समय गंदे और मैले वस्त्र पहना रहता है तो माता लक्ष्मी उससे नाराज हो जाती हैं। शास्त्रों के अनुसार, माता लक्ष्मी को साफ-सफाई बेहद पसंद है और वो उसी घर में वास करती हैं जहां स्वच्छता बनी रहती है।
 

गंदे और मैले वस्त्र धारण करने वाले लोग
गंदे और मैले वस्त्र धारण करने के अलावा जो लोग अपने शरीर की सफाई नहीं रखते हैं, वो अक्सर किसी ना किसी तरह की दरिद्रता से घिरे रहते हैं। ठीक इसी तरह जो लोग दांतों की रोजाना सफाई नहीं करते हैं, माता लक्ष्मी उनसे भी रुष्ट रहती हैं। गरुड़ पुराण में व्यक्ति को आस-पास गंदगी ना रखने की सलाह दी गई है।

दूसरों की कमियां निकालने वाले लोग
गरुड़ पुराण के अनुसार, जो व्यक्ति स्वभाव से आलोचक हो यानी कि वो हमेशा किसी दूसरे व्यक्ति की कमियां निकालता हो और दूसरों के बारे में बुरा बोलता हो, माता लक्ष्मी उससे नाराज हो जाती हैं। दूसरों पर बेवजह चीखने-चिल्लाने या गुस्सा होने का स्वभाव हो तो भी जीवन में दरिद्रता आती है।

सूर्योदय के बाद तक सोने वाला व्यक्ति
अगर कोई व्यक्ति सूर्योदय के बाद भी काफी देर तक सोता रहता है तो ऐसा व्यक्ति आलसी प्रवृत्ति का माना जाता है। गरुड़ पुराण के अनुसार, ऐसे व्यक्ति के जीवन में तमाम कोशिशों के बाद भी जीवन में हमेशा धन की कमी रहती है।

सूर्योदय के बाद तक सोने वाला व्यक्ति
गरुड़ पुराण के अनुसार, सुबह और शाम का समय भगवान के भजन का होता है। ईश्वर की आराधना के लिए ये समय उपयुक्त माना जाता है। जो व्यक्ति यह समय आराम करने में गुजार देते हैं, देवता उनसे रुष्ट होते हैं जिसकी वजह से उनके जीवन में दरिद्रता आती है।

धन का घमंड
गरुड़ पुराण कहता है कि यदि किसी व्यक्ति को अपने धन का घमंड हो जाये तो ऐसे लोगों की बौद्धिक क्षमता कमजोर हो जाती है। ऐसे लोग अपने धन को व्यर्थ के कार्यों में खर्च कर दरिद्रता को बुलावा देते हैं। ऐसे चरित्र और स्वभाव वाले लोगों के घर में माता लक्ष्मी वास नहीं करती हैं।

मेहनत से बचने वाले लोग
अगर कोई व्यक्ति परिश्रम से जी चुराता है और सौंपे गए कार्य को ढंग से नहीं करता है तो माता लक्ष्मी उससे नाराज होती हैं। गरुड़ पुराण में लोगों को अपने इस स्वभाव से बचने को कहा गया है। वहीं गरुड़ पुराण में अत्यधिक खाने वाले व्यक्ति को भी दरिद्रता का कारण माना गया है क्योंकि ऐसा व्यक्ति जीवन में आलस्य बढ़ाता है।