पेट और कमर की जमी चर्बी (waist and belly fat) से निजात पाने के लिए ये पांच योगासन लाभकारी हो सकते हैं। साथ ही आपके व्यक्तित्व में निखार ला सकता है। यह सेहत के लिए भी कई तरह के खतरे उत्पन्न कर सकती है। कमर पर जमा इस थुलथुली चर्बी को पिछलाने के लिए व्यक्ति को कड़ी मश्क्कत करनी पड़ी है। पेट पर जमा चर्बी खराब लाइफस्टाइल, पूरे दिन बैठकर काम करने, वर्कआउट की कमी, अनहेल्‍दी फूड  हैबिट्स और तनाव इसका कारण हो सकते हैं। साथ ही आगे चलकर आप कई गंभीर रोगों से ग्रसित हो सकते हैं। अगर आप भी अपने बैली फैट से परेशान हैं तो उससे निजात पाने के लिए रोजाना करें ये आसान योगासन।  

भुजंगासन 

भुजंगासन आसन मुख्य रूप से आपके पेट की मसल्‍स को मजबूत करने और आपकी पीठ के निचले हिस्से को आराम देने का काम करता है। ये हमारी रीढ़ की हड्डी को लचीला बनाकर हमारे पाचन और प्रजनन तंत्र को भी मजबूत बनाता है। इसके अलावा, ये आसन हमारे चक्रों को भी खोलने में अहम भूमिका निभाता है।

चक्की चलानासन

पेट की चर्बी कम करने के लिए चक्की चलन आसन बहुत कारगर उपाय है। इसके अलावा इस आसन को करने से पीठ, पेट और बाजुओं की मसल्‍स की अच्‍छी एक्‍सरसाइज हो जाती है और चेस्‍ट और पेल्विक एरिया में स्‍ट्रेच आता है। यह आपकी रीढ़ को कोमल और लचीला बनाए रखने में भी मदद करता है।

नौकासन

इस आसन में नौका के समान आकर धारण किया जाता है, इसलिए इसे नौकासन कहा जाता है। यह एक ऐसी मुद्रा है जो आपकी साइड और पेट की मसल्‍स पर शानदार ढंग से काम करती है और आपके कोर को मजबूत बनाती है। नौकासन का रोजाना अभ्यास करने से आपके पेट और साइड की चर्बी कम होती है। नौकासन में आपके पेट और साइड की मांसपेशियां स्ट्रेच होती हैं जिससे आपको वजन कम करने में भी फायदा मिलता है। 

धनुरासन

धनुरासन पीठ के साथ-साथ पेट की मांसपेशियों को भी मजबूत बनाने में मदद करता है।

यह आसन एक बेहतरीन स्ट्रेस बस्टर है। यह आपकी पीठ के लचीलेपन को बढ़ाता है साथ ही कमर के दर्द को कम करने में मदद करता है।

उष्ट्रासन

उष्ट्रासन थोड़ी कठिन मुद्रा है। इस योगासन को तभी करें जब आपको पीठ से जुड़ी कोई समस्या न हों। उष्ट्रासन के अभ्यास से सीने और पेट के निचले हिस्से से अतिरिक्त चर्बी कम होती है। ये कमर और कंधों को मजबूत बनाता है। ये कमर के निचले हिस्से में दर्द कम करने में मदद करता है।