घरेलू वाहन कंपनी टाटा मोटर्स (Domestic vehicle company Tata Motors) अपने वाणिज्यिक वाहनों की कीमतों में एक जनवरी से 2.5 प्रतिशत (increase the prices of its commercial vehicles  तक वृद्धि करने जा रही है. कंपनी ने कहा है कि जिंसों के दाम बढ़ने और कच्चे माल की लागत में बढ़ोतरी की वजह से उसे यह कदम उठाना पड़ रहा है.

कंपनी ने सोमवार को शेयर बाजारों को बताया कि वाणिज्यिक वाहनों की कीमतों में बढ़ोतरी का यह फैसला सभी श्रेणियों (increasing the prices of commercial vehicles will be applicable to all categories) पर लागू होगा. मध्यम एवं भारी वाणिज्यिक वाहन, मध्यवर्ती एवं हल्के वाणिज्यिक वाहन, छोटे वाणिज्यिक वाहन और बसों के दाम भी बढ़ेंगे.

टाटा मोटर्स ने कहा- इस्पात, एल्युमिमियम और अन्य बहुमूल्य धातुओं के दामों में हुई वृद्धि के साथ दूसरे कच्चे माल की भी लागत बढ़ने से वाणिज्यिक वाहनों के दाम बढ़ाने का फैसला लेना पड़ा है.

कंपनी ने कहा कि इस लागत वृद्धि का एक बड़ा बोझ वह खुद उठा रही है लेकिन वाहनों की कीमतों में थोड़ी वृद्धि कर इसका कुछ हिस्सा ग्राहकों पर भी डालना पड़ रहा है. इसके पहले मारुति सुजुकी, मर्सिडीज बेंज और ऑडी ने भी अगले महीने से अपने वाहनों के दाम बढ़ाने की घोषणा की है