अगर आपके पास कुछ एक्स्ट्रा पैसे हैं, जो आपने बचाए हैं तो आप उनका क्या करते हैं? या मान लीजिए आपके खाते में आज कुछ पैसे आते हैं, जिनकी जरूरत आपको महीने या 2-3 महीने बाद है तो उसका आप क्या करते हैं? बेशक इन पैसों को शेयर बाजार में लगाने का मतलब है बहुत बड़ा रिस्क लेना। हो सकता है कि आपके पैसे बढ़ने के बजाय घट जाएं।

यह भी पढ़े : भगवंत मान ने कर दिया बड़ा खेला , इस धाकड़ खिलाड़ी को बनाया राज्यसभा चुनाव के लिए आप पंजाब का उम्मीदवार


 ऐसे में निवेश का सबसे सुरक्षित और गारंटी के साथ रिटर्न वाला ठिकाना होता है एफडी। लोग छोटी अवधि के लिए पैसों की एफडी करा देते हैं, जिस पर उन्हें 5-7 फीसदी तक का रिटर्न ) भी मिल जाता है। अब जरा सोचिए कैसा हो अगर कोई बैंक आपको सेविंग अकाउंट में ही पैसे रखने पर एफडी जैसा रिटर्न देने लगे। यानी ना आपको एफडी करानी होगी ना ही अचानक पैसों की जरूरत पड़ने पर उसे तुड़वाना होगा। आइए जानते हैं ऐसे ही 3 बैंकों के बारे में जो सेविंग अकाउंट पर ही एफडी जैसा रिटर्न दे रहे हैं।

यह भी पढ़े : मणिपुर में CM पद की खींचतान, बीजेपी ने मणिपुर के बड़े नेताओं को दिल्ली तलब किया

डीसीबी बैंक

मौजूदा समय में डीसीबी बैंक ऐसा अकेला प्राइवेट बैंक है, जो सेविंग अकाउंट पर सबसे ऊंचा ब्याज दे रहा है। यह बैंक 50 लाख रुपये से लेकर 2 करोड़ रुपये तक के पैसों पर 6.75 फीसदी की दर से ब्याज ऑफर कर रहा है। हालांकि, पैसे कम होने पर आपको कम ब्याज मिलेगा। 1 लाख रुपये तक पर 2.5 फीसदी, 2 लाख रुपये तक पर 4.5 फीसदी, 2-10 लाख रुपये तक पर 5 फीसदी, 10-25 लाख रुपये तक पर 6.25 और 25-50 लाख रुपये तक पर 6.5 फीसदी ब्याज मिल रहा है।

आरबीएल बैंक

सेविंग अकाउंट पर मोटा ब्याज देने वाले बैंकों की लिस्ट में दूसरा बैंक है आरबीएल बैंक। यहां पर आपको 10 लाख रुपये से 5 करोड़ रुपये तक के बैलेंस पर 6.25 फीसदी का अधिकतम ब्याज मिल सकता है। आरबीएल बैंक में 1 लाख रुपये तक पर आपको 4.25 फीसदी और 1-10 लाख रुपये तक पर 5.5 फीसदी रिटर्न मिलेगा। यानी अगर आप अपने सेविंग अकाउंट में अधिक पैसे रखते हैं तो आरबीएल बैंक एक अच्छा विकल्प है।

बंधन बैंक

अगर आप चाहें तो बंधन बैंक के सेविंग अकाउंट में भी पैसे रख सकते हैं। यहां आपको 6 फीसदी तक का अधिकतम ब्याज मिल सकता है। हालांकि, यह 6 फीसदी का ब्याज आपको तब मिलेगा, जब आपके खाते में 10 लाख रुपये से लेकर 2 करोड़ रुपये तक रहेंगे। इसके अलावा आपको 1 लाख रुपये तक पर 3 फीसदी ब्याज मिलेगा और 1-10 लाख रुपये तक पर 5 फीसदी ब्याज मिलेगा।