एआईयूडीएफ प्रमुख मौलाना बदरुद्दीन अजमल के मुताबिक बलात्कार जैसे जघन्य अपराध से जुड़े हर तरह के व्यक्ति को फांसी की सजा दी जानी चाहिए।


केंद्र सरकार की ओर से इस बारे में उठाए जा रहे कदमों का उन्होंने स्वागत करते हुए यह बात कही।


उन्होंने कहा कि केवल 12 वर्ष से कम की बच्ची के साथ ही क्यों, किसी भी बलात्कारी को फांसी की कोठी में डालना और मृत्युदंड दिया जाना चाहिए।


मौलाना अजमल ने सोशल मीडिया में भी अपनी यह भावना जताई है। अपने ताजा ट्वीट में उन्होंने कहा कि वे पहले से ही बलात्कार करने वालों को फांसी की सजा के प्रावधान की मांग करते आ रहे हैं।


उनके मुताबिक राष्ट्रपति से मुलाकात कर वे यह मांग कर चुके हैं। संसद में भी यह बात उठा चुके हैं।