पटना में राबड़ी देवी के आवास की ओर जैसे-जैसे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कदम बढ़े, बिहार के राजनीतिक गलियारों में अटकलों का दौर तेज होता गया. सबके मन में एक ही सवाल उठ रहा है कि क्या बिहार में किसी बड़े राजनीतिक उलटफेर की आहट है?

यह भी पढ़े : Horoscope 23 April 2022: आज चंद्रमा मकर राशि में गोचर करेंगे , मेष, मिथुन और मकर राशि वाले आज न करें ये काम


क्या बिहार की राजनीति में कुछ बड़ा खेल होने को है? ऐसी अटकलें सीएम नीतीश कुमार की वजह से लग रही हैं, जिन्होंने शुक्रवार को राबड़ी देवी की इफ्तार पार्टी में पहुंचकर सबको चौंका दिया. लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप ने तो यहां तक कह दिया कि हम सरकार बनाने वाले हैं.

यह भी पढ़े : Love Horoscope : आज चमक उठेगी इन 4 राशियों की लव लाइफ , होगी नई शुरुआत, विवाह के भी योग


पटना में राबड़ी देवी के आवास की ओर जैसे-जैसे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कदम बढ़े, बिहार के राजनीतिक गलियारों में अटकलों का दौर तेज होता गया. सबके मन में एक ही सवाल उठ रहा है कि क्या बिहार में किसी बड़े राजनीतिक उलटफेर की आहट है? शुक्रवार को आरजेडी की इफ्तार पार्टी में नीतीश के शामिल होने को लेकर लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने तो दो कदम आगे बढ़कर बिहार में सरकार बनाने की भविष्यवाणी कर दी. तेज प्रताप यादव ने कहा, 'सीक्रेट बात हुई है. हम बिहार में सरकार बनाएंगे. राजनीति में उथल-पुथल चलता रहता है. सियासत में कुछ भी संभव है.' वहीं आरजेडी से राज्यसभा सांसद मीसा भारती ने कहा, राजनीति में कुछ भी अनुमान लगाना बहुत मुश्किल है...कब क्या हो जाए, किसी को नहीं पता.

दिलचस्प बात ये है कि नीतीश कुमार एक अणे मार्ग स्थित अपने आवास से पैदल ही 10, सर्कुलर रोड स्थित राबड़ी आवास पहुंचे. इफ्तार पार्टी में तेजस्वी यादव, तेज प्रताप, राबड़ी देवी, मीसा भारती सभी नीतीश के साथ ही बैठे. चिराग पासवान और मुकेश सहनी भी इस दावत में पहुंचे. तेजस्वी यादव ने कहा कि हमने हर पार्टी के नेताओं को न्योता दिया है, चाहे वो बीजेपी से हो या फिर वीआईपी या एलजेपी से. यह एक परंपरा है कि सभी इफ्तार में शामिल होते हैं. इस तरह इफ्तार के बहाने आरजेडी ने एक बड़ा सियासी जमघट लगा दिया. 

यह भी पढ़े : Kalashtami Vrat : मासिक कालाष्टमी व्रत आज, ऐसे करें भैरवनाथ की पूजा, जानिए पूजन- विधि और शुभ मुहूर्त


हालांकि बीजेपी ये कह रही है कि नीतीश के दावत में जाने के राजनीतिक मायने नहीं निकाले जाने चाहिए. बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा, यहां तेजस्वी यादव ने इफ़्तार दिया है. हमें भी बुलाया गया था, हम आ गए. इसमें कोई राजनीतिक मामला निकालने की जरूरत नहीं है. लेकिन इस इफ्तार पार्टी की टाइमिंग सबसे अहम है.ये राजनीतिक जमघट गृह मंत्री अमित शाह के बिहार दौरे की पूर्व संध्या पर हुआ है, इसलिए इसमें कोई राजनीतिक संदेश जरूर छिपा है. वैसे भी JDU और BJP के बीच चल रही तनातनी और बोचहां उपचुनाव में मिली चुनावी-जीत के बाद आरजेडी नए सियासी समीकरण बुन रही है.