पूरे देश में कोरोना हालाता बिगाड़ता ही जा रहा है। कई इलाकों में तालाबंदी कर दी गी है। इसी तरह से महाराष्ट्र में भी हालात बहुत ही ज्यादा खराब होते जा रहे हैं। कोरोना ने महाराष्ट्रा पर बहुत ही जोरदार तरीके से हमला किया है। जिसे महाराष्ट्रा सरकार और पूरा राज्य बहुत ही बुरे तरह से जख्मी हो गए हैं। नाइट कर्फ्यू, वीकेंड लॉकडाउन और अब मिनी लॉकडाउन के बावजूद कोरोना संक्रमण कम नहीं हो रहा है।

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में हालात सबसे ज्यादा खराब है। यहां 24 घंटे में करीब नौ हजार मामले सामने आए हैं जिससे हड़कंप मच गया है। अब मुंबई में बढ़ते कोरोना केसों के बीच कंप्लीट लॉकडाउन की संभावना ज्यादा बढ़ गई है। खुद बीएमसी की मेयर किशोर पेडनेकर ने कहा कि मौजूदा हालातों के मद्देनजर मुंबई में लॉकडाउन लगाना ही एकमात्र विकल्प बचा है। मुंबई में करीब 95% लोग कोरोना प्रतिबंधों का पालन कर रहे हैं।


हाल ही में महाराष्ट्र में में कोरोना के रिकॉर्ड 63,729 केस सामने आए हैं और 398 मरीजों की मौत हो गई है। राज्य में अब तक कुल 37,03,584 लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं, 398 लोगों की मौत के बाद कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 59,551 हो गई है। देश की आर्थिक राजधानी में पिछले 24 घंटे में 9000 लोग संक्रमित पाए गए तो 53 लोगों की मौत हुई है। मुंबई में अब तक कुल 5,61,998 लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं।