आपने अब तक यही सुना होगा कि प्रेग्‍नेंसी में घी खाने से डिलीवरी के लिए शरीर को ताकत मिलती है और प्रेग्‍नेंसी के नौवे महीने में घी पीने से डिलीवरी आसानी से हो जाती है लेकिन क्‍या आप ये जानते हैं कि घी महिलाओं की फर्टिलिटी को भी बढ़ाता है। जी हां, कहा जाता है कि घी में ऐसे गुण होते हैं जो फर्टिलिटी पॉवर को बढ़ाते हैं और जल्‍दी कंसीव करने में मदद करते हैं। आगे इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि घी फर्टिलिटी बढ़ाने में कैसे काम करता है, साथ ही जल्‍दी कंसीव करने के कुछ और आसान तरीकों के बारे में भी जानेंगे।

घी में फैटी एसिड्स के रूप में फैट होता है जो अन्‍य फैट वाले तत्‍वों की तरह हार्ट की बीमारियों का खतरा पैदा नहीं करता है। घी में जरूरी विटामिन जैसे कि विटामिन ए, डी, ई और के2 भी होता है। ये पोषक तत्‍व वजन घटाने, पाचन को बढ़ाने और शरीर के कई हिस्‍सों में सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा माना जाता है कि घी महिलाओं और पुरुषों की फर्टिलिटी को बढ़ाने में भी अहम भूमिका निभाता है।

घी औषधीय गुणों से भरपूर है। नारियल तेल की तरह इसमें भी सैचुरेटिड फैट होता है और यह अपने हीलिंग गुणों से बॉडी को कंसीव करने के लिए तैयार होने में मदद करता है। आयुर्वेद में भी घी को रिप्रोडक्टिव फूड माना गया है। महिलाओं को फटाईल बनाने वाले हार्मोंस एस्ट्रोजन और प्रोजेस्‍टेरोन कोलेस्‍ट्रॉल से बनते हैं। घी से कोलेस्‍ट्रॉल मिलता है जिससे कंसीव कने के लिए जरूरी हार्मोंस बनते हैं। वहीं गर्भस्‍थ शिशु के दिमाग के विकास के लिए भी घी में मौजूद गुड फैट्स लाभकारी होते हैं।

कुछ महिलाएं आसानी से कंसीव कर लेती हैं, तो कुछ दिक्‍कत आती है। हालांकि, आप अपनी डाइट में ऐसे फूड्स को शामिल करें जो आपकी फर्टिलिटी को बढ़ाने में मददगार हों और घी उन्‍हीं में से एक है। घी एनर्जी को बढ़ाता है, शरीर को पोषण देता है और कई बीमारियों से दूर रखता है। इस तरह महिला और पुरुष दोनों को ही हेल्‍दी रहकर कंसीव करने की कोशिश करने में काफी मदद मिलती है।

घी से महिलाओं के शरीर को कोलेस्‍ट्रॉल बनाने में भी मदद मिलती है। एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन को बढ़ाने और संतुलित मात्रा में बनाए रखने के लिए महिलाओं के शरीर को कोलेस्‍ट्रॉल की जरूरत होती है। मां बनने के लिए एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन का संतुलित होना बहुत जरूरी है। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्‍नोलॉजी इंफॉर्मेशन में प्रकाशित एक स्‍टडी के अनुसार घी से पुरुषों में स्‍पर्म काउंट को बढ़ाया जा सकता है। इस अध्‍ययन में 21 से 40 की उम्र के पुरुषों को लिया गया था। इन पुरुषों को लो स्‍पर्म काउंट की प्रॉब्‍लम थी जिसकी वजह से इनकी पार्टनर को कंसीव करने में दिक्‍कत आ रही थी।

सभी प्रतिभागियों को हरीतक्यादि योग से विरेचन कर्म देने के बाद 8 सप्‍ताह तक रोज 10 ग्राम गाय का घी पिलाया गया। स्‍टडी के अंत में विरेचन के बाद घी पीने से 80.92 स्‍पर्म काउंट में बढ़ोतरी हुई, 41.78 पर्सेंट स्‍पर्म की गतिशीलता बढ़ी, 41.69 पर्सेंट स्‍पर्म में हुई असामान्‍यता में कमी आई और सीमन की वॉल्‍यूम 45.22 पर्सेंट बढ़ी। इससे पता लगता है कि घी के सेवन से महिलाओं ही नहीं बल्कि पुरुषों की भी फर्टिलिटी को बढ़ाया जा सकता है।