केंद्रीय कर्मचारियों को दशहरे से पहले एक और खुशखबरी मिल सकती है। केंद्रीय कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ता (DA) और पेंशनर्स के लिए महंगाई राहत (DR) में बढ़ोतरी की संभावना है। इससे 1 करोड़ से ज्यादा केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को फायदा होगा। सरकार ने हाल में डीए 17 फीसदी से बढ़ाकर 28 फीसदी घोषणा की थी। कोरोना महामारी के कारण सरकार ने पिछले साल डीए को जून 2021 तक फ्रीज करने की घोषणा की थी।

जुलाई 2021 का महंगाई भत्ता अभी तय नहीं किया गया है, लेकिन जनवरी से मई 2021 के AICPI आंकड़ों से साफ है कि इसमें 3 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है। इस तरह 3 फीसदी और बढ़ने के बाद महंगाई भत्ता 31 फीसदी पर पहुंच जाएगा। सूत्रों के मुताबिक सरकार दशहरे या दिवाली के आसपास में डीए बढ़ाने की घोषणा कर सकती है। इसका भुगतान अगले साल जनवरी 2022 तक हो सकता है।

कोरोना की वजह से केंद्र सरकार ने जनवरी 2020 से ही कर्मचारियों को दिए जाने वाले डीए में बढ़ोतरी के भुगतान पर रोक लगा दी थी। जनवरी 2020 में डीए 4 फीसदी बढ़ा था, फिर जून 2020 में 3 फीसदी बढ़ा और जनवरी 2021 में यह 4 फीसदी बढ़ा। लेकिन इस बढ़ोतरी का भुगतान नहीं हुआ। यानी उन्हें पुरानी दर 17 फीसदी के हिसाब से ही डीए मिल रहा था, बीच में जो इजाफा हुआ उसका फायदा नहीं मिल रहा था। अब सरकार ने फैसला किया है 1 जनवरी 2020 से लेकर 30 जून 2021 तक केंद्रीय कर्मचारियों का डीए 17 फीसदी ही रहेगा। बढ़ा हुआ डीए जुलाई 2021 से लागू होगा। इसका मतलब साफ है कि पिछले करीब 18 महीनों का कोई एरियर नहीं मिलेगा।

पिछले साल की तुलना में कुल महंगाई भत्ता 11 फीसदी बढ़ चुका है। सरकार ने जुलाई 2021 से इसे 28 फीसदी कर दिया है। अब जून 2021 में अगर यह 3 फीसदी बढ़ता है तो इसके बाद महंगाई भत्ता (17+4+3+4+3) के साथ 31 फीसदी पर पहुंच जाएगा। यानी अगर किसी कर्मचारी का मूल वेतन 50,000 रुपये है तो उसे 15,500 रुपये डीए मिलेगा। आमतौर पर साल की दूसरी छमाही के लिए डीए बढ़ोतरी का ऐलान जून में होता है। लेकिन, पिछले साल कोरोना महामारी के कारण महंगाई भत्ते को जून 2021 तक फ्रीज रखा गया था।