दुनिया में कोरोना वायरस महामारी आने से सभी देशों ने लॉकडाउन लागू कर दिया था ताकि कोरोना वायरस का ज्यादा संक्रमण ना फैले। कोरोना वायरस अभी तक नियंत्रण में आया ही नहीं है क्योंकि इसकी वैक्सीन अभी तक नहीं बन पाई है। इसलिए लोगों में इसका वायरस ज्यादा ना फैले लॉकडाउन को खोला नहीं है। लेकिन कोरोना के बाद अब दुनिया में सबसे खतरनाक चीज़ जो आ रही है उससे शायद लॉकडाउन फिर से लागू कर दिया जाएगा।


फ्रांस में टीचर की कट्टरपंथी इस्लामिक द्वारा हत्या करना का मामला बढ़ता ही जा रहा है। यह मामला इसलिए ज्यादा बढ़ा हो गया क्योंकि फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रो ने बयान दिया कि इस्लामिकों को अपने इस्लाम खोना का डर है। इनको इस्लामोफिबोया है। इस बयान से नाराज कई लाखों इस्लामिक अपने धर्म की तौहिन समझकर फ्रांस के खिलाफ आंदोलन क रहे हैं। यही नहीं फ्रांस के सामनों और फ्रांस देश का बहिष्कार भी कर रहे हैं।  


इसी आक्रोश में कई इस्लामिक लोगों ने अल्लाह हू अकबर चिल्लाकर कई मासूम लोगों को चाकूओं से वार करके मौत के घाट उतार दिया है। फ्रांस में 72 घंटे में दो चर्च पर इस्लामिक आतंकियों का हमला हो चुका है। इसी तरह से सऊदी अरब और कनाडा में भी लोगों को इस्लामिक आतंकियों ने मौत को घाट उतार दिया है। भारत में भी धीरे धीरे इस इस्लामिक आग की लपटे पहुंच रही है।  अब दुनिया में धीरे धीरे इस्लामिक आतंकियों का खौफ फैल रहा है जिससे दुनिया में एक नहीं जंग शुरूने के आसार है।