अपमान किसी भी को भी सहन नहीं होता है। आज के समय में इंसान की ऐसी प्रवृत्ती बन गई है कि इनमें सहन शक्ति नाम मात्र भी नहीं होती है। इसी तरह सी टीचर और विद्यार्थी के बीच नोकझोंक चलती रहती है। शिक्षक विद्यार्थी को कुछ सीख देने के लिए अपमान भी करते हैं सराहाना भी करते हैं। लेकिन क्या की बच्चे अपने इन्सल्ट का बदला उनकी हत्या कर लें। यह घटना बेल्जियम से सामने आई है।

एक शख्स को टीचर ने 30 वर्षों पहले क्लास में अपमानित किया था। 30 साल बाद उस शख्स ने टीचर से खौफनाक बदला ले लिया। बेल्जियम के रहने वाले इस शख्स ने अपने शिक्षक से बदला लेते हुए उनकी चाकूओं से वार करके हत्या कर डाली। खबरों के मुताबिक, आरोपी ने शिक्षक पर सौ से ज्यादा बार चाकू से वार किया। वो उनके शरीर पर तब तक चाकू गोदता रहा जबतक उनकी मौत नहीं हो गई।


यह भी पढ़ें- विपक्षी AITC ने मेघालय बजट 2022-23 को बताया चुनाव केंद्रित बजट
बता दें कि इस शख्स की उम्र 37 बरस है। प्राथमिक विद्यालय में उसने अपने शिक्षक द्वारा अपमानित महसूस किया था। साल 2020 में उनकी चाकू मारकर हत्या कर दिया था। इस बात को उसने खुद कबूल लिया है। शख्स ने जांचकर्ताओं को बताया कि 1990 के दशक की शुरुआत में जब वह सात साल की उम्र में छात्र थे, तो उनकी शिक्षक मारिया वेरलिंडन ने क्लास में कई बार उनपर टिप्पणियां की। जिससे वो अपमानित महसूस करता था। अब करीब तीस साल बाद उसने इनका बदला ले लिया है।

पुलिस को केस सुलझाने में हुई मुश्किल

2020 में शख्स ने इस वारदात को अंजाम दिया। एंटवर्प के पास हेरेंटल्स में उसके घर पर 59 वर्षीय वर्लिंडन की बर्बर हत्या कर दी गई थी। बेल्जियम पुलिस हत्यारे को खोजने में लगी थी। डीएनए नमूनों के बावजूद केस अनसुलझा था।

 रिपोर्ट के मुताबिक, शख्स ने उन्हें 101 बार चाकू मारा था। नकदी से भरा पर्स शिक्षक के शरीर के पास ही पड़ा था। जिससे पुलिस को यह पता चला कि केस चोरी डकैती का तो नहीं है। जब डीएनए के नमूने लिए गए उसके बाद शख्स ने अपना गुनाह कबूल कर लिया। फिलहाल पुलिस इस मामले की और जांच भी कर रही है।