नये साल में टोल प्लाजा को लेकर सरकार ने बड़ा बदलाव किया है।  भारत सरकार के सड़क एवं परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय  ने एक नोटिफिकेशन जारी कर बताया है कि 1 जनवरी 2021 से देशभर के सभी चार पहिया वाहनों के लिए फास्टैग  को अनिवार्य कर दिया गया है। 

केंद्रीय परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने घोषणा की कि 1 जनवरी, 2021 से देश में सभी वाहनों के लिए FASTag को अनिवार्य किया जा रहा है।  उन्होंने कहा कि यह यात्रियों के लिए उपयोगी है, फास्टैग होने पर टोल प्लाजा पर रुकने की आवश्यकता नहीं होगी।  इससे नकद भुगतान, समय और ईंधन की बचत होगी। 

सरकार की योजना है कि देशभर के टोल प्लाजा को पूरी तरह से जीपीएस से जोड़ दिया जाए, जिससे लोगों को लंबी लाइनों में घंटों खड़े होने से राहत मिलेगी।  सरकार FASTag के जरिये टोल प्लाजा में 100 प्रतिशत भुगतान को अनिवार्य करना चाहती है।  फिलहाल 80 प्रतिशत टोल में ही यह सुविधा है, जिसे नये साल में शतप्रतिशत करने की योजना है। 

आप बता दें FASTag एक इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है।  जिसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी टैग लगा होता है।  इसे गाड़ियों के आगे के शीशे पर लगाना होता ह। . टोल प्लाजा से गुजरने पर वहां लगा सेंसर इसे रीड करता है और फास्टैग से लिंक प्रीपेड या बचत खाते से खुद ही कट पैसा कट जाता है।  टोल में रुकने की भी आवश्यकता नहीं होगी। 

FASTag लेने के लिए आपको बिल्कुल भी परेशान नहीं होना है. फास्टैग आप ई-कॉमर्स साइट अमेजन, फ्लिपकार्ट, स्नैपडील, पेटीएम से खरीद सकते हैं। इसके अलावा आप अपने बैंक और पेट्रोल पंप से भी खरीद सकते है।

FASTag लेने के लिए आपको आधार कार्ड, पैन कार्ड और गाड़ी का रिजस्ट्रेशन नंबर की जरूरत पड़ेगी.