मेघालय के दक्षिण तुरा सीट पर होने वाले उप चुनाव में मुख्यमंत्री संगमा की राह आसान नहीं होगी। चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिल सकता है। इस बार मेघालय के पूर्व विधायक जाॅन लेस्ली संगमा छह महीने में दूसरी बार दक्षिण तुरा से चुनाव लड़ेंगे। इस उन्हें मेघयलय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा की चुनौती का समाना करना पड़ेगा। बता दें कि फरवरी में हुए विधानसभा चुनाव में लेस्ली ने एनसीपी की आेर से चुनाव लड़ा था।

मालूम हो कि उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान बताया कि इस बार वे चुनाव को लेकर काफी सतर्क हैं। क्योंकि पिछली बार एनपीपी के पीछे एमडीए गठबंधन का जोर था। हांलाकि उन्होंने कहा कि मैं जानता हूं कि यह एक बड़ी चुनौती है।

उन्होंने कहा कि मैंने स्वीकर कर लिया है कि चुनाव में तो हार-जीत होती ही रहती है यह कोर्इ बड़ा मसला नहीं है। लेस्ली ने कहा कि हमारा तो प्रयास है कि हम जन-जन तक पहुंचे आैर लोगों के ध्यान को ज्वलंत मुद्दों की आेर आकर्षित करें। जिससे मतदाताआें में जागरूकता पैदा हो सके।

गौरतलब है कि दो जुलार्इ को मुख्यमंत्री कोनराड संगमा की बहन आगाथा संगमा के विधायक पद छोड़ने के बाद यह चुनाव जरूरी हो गया है। एेसा उन्होंने अपने भार्इ कोनराड संगमा को चुनाव में उतारने के एवं विधायक चुने जाने के लिए किया। क्योंकि मुख्यमंत्री पद की दावेदारी के लिए कोनराड संगमा को चुनाव लड़ना जरूरी हैं। तो इस बार दक्षिण तुरा से त्रिकोणीय मुकाबला होने की संभावना है।