उत्तर प्रदेश में कोरोना पर काबू पाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का ट्रिपल टी मॉडल मतलब “ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट” ने कमाल कर दिखाया है। देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में काफी कमी देखने को मिल रहा है। कोरोना की रफ्तार अब कम होने लगी है लेकिन ब्लैक फंगस ने टेंशन बढ़ा दी है। इसके केस ज्यादा संख्या में मिल रहे हैं। ब्लैक फंगस के मामले धीर धीरे बढ़ते ही जा रहे हैं।

यूपी की बात करें तो यहां कोरोना की दर घट गई है। 25 करोड़ की आबादी वाले राज्य में पिछले 24 घंटे में 3,981 पॉजिटिव केस आए है और जबकि कोरोना को मात देकर 11,918 मरीज घर पहुंचे हैं। एक्टिव मरीजों की संख्या 7,6700। बताया जा रहा है कि पिछले 23 दिन में 23,4000 केस कम हुए हैं। बेहद छोटे राज्यों जम्मू कश्मीर में 3,600 और उत्तराखंड में 3,800 केस सामने आए हैं।नीति आयोग के सदस्य वीके पाल और विशेषज्ञों ने भी आशंका जाहिर की थी कि यूपी दुनिया का सबसे बड़ा कोविड-19 हॉटस्पॉट बनेगा लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना के लिए ऐसा जाल बिछाया की फड़फड़ता कोरोना दम तोड़ने लगा है। एक लाख गांवों में निगरानी समितियों को सक्रिय करके संक्रमितों की पहचान और 24 घंटे में टेस्ट कराकर मेडिसिन किट पहुंचाने की व्यवस्था की है।