नई दिल्ली. आज भी देश का मूड पीएम नरेंद्र मोदी के साथ है। देश के प्रधानमंत्री के चेहरे के लिए हुए सर्वे में एक बार फिर से नरेंद्र मोदी सबसे बड़ी पसंद हैं। 53 फीसदी लोग एक बार फिर से पीएम नरेंद्र मोदी को ही देश का पीएम बनते देखना चाहते हैं। यह बात एक सर्वे में यह बात सामने आई है। सर्वे में 53 फीसदी लोगों ने पीएम मोदी को अपनी पसंद बताया तो कांग्रेस के राहुल गांधी को 9 फीसदी लोग ही पीएम देखना चाहते हैं। तीसरे नंबर पर अरविंद केजरीवाल हैं, जिन्हें 7 पर्सेंट लोगों ने अपनी पसंद बताया है।

यह भी पढ़े : ऋषभ पंत की वायरल इंस्टाग्राम स्टोरी पर उर्वशी रौतेला ने दिया जवाब, कहा 'छोटू भैया...मैं कोई मुन्नी नहीं हूं जो


सर्वे के नतीजों से साफ है कि नरेंद्र मोदी का जादू अब भी देश पर कायम है और वह 2024 के लोकसभा चुनाव में भी भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए को बहुमत के आंकड़ों तक ले जाने में सक्षम हैं। यही नहीं सर्वे में शामिल 25 फीसदी लोगों ने माना है कि केंद्र सरकार की बड़ी उपलब्धि है कि उसने कोरोना का अच्छे से मैनेजमेंट किया। इसके अलावा 14 फीसदी लोगों ने आर्टिकल 370 के खात्मे को एनडीए सरकार की उपलब्धि माना है। 8 फीसदी लोग ऐसे हैं, जो विश्वनाथ कॉरिडोर और राम मंदिर को भी मोदी सरकार की उपलब्धि माना है।

यह भी पढ़े : Surya Gochar 2022: 17 अगस्त से स्वराशि सिंह में प्रवेश करेंगे सूर्य, इन राशियों के शुरू होंगे अच्छे दिन


इसी सर्वे में यह बात भी सामने आई है कि यदि आज ही लोकसभा के चुनाव हों तो किसकी सरकार बनेगी। सर्वे के मुताबिक आज चुनाव होने की स्थिति में भी मोदी सरकार ही बनेगी। देश भर में 41.4 फीसदी वोट एनडीए को मिल सकते हैं। इसके अलावा 28.1 फीसदी वोट यूपीए के खाते में जा सकते हैं। वहीं अन्य के खाते में यूपीए से थोड़ा अधिक 30.6 फीसदी वोट जा सकते हैं। सीटों के आंकड़े की बात करें तो 1 अगस्त, 2022 को किए गए सर्वे के मुताबिक एनडीए को 307 सीटें मिल सकती हैं। इसके अलावा यूपीए को 125 और अन्य को 111 मत मिल सकते हैं।

यह भी पढ़े : रक्षाबंधन शुभ मुहूर्त 2022: आज उदया तिथि में पूरे दिन बांधी जा सकेगी राखी


हालांकि बिहार में हुए बड़े बदलाव के बाद भाजपा और एनडीए का ग्राफ थोड़ा गिरा है। मूड ऑफ द नेशन सर्वे के मुताबिक एनडीए को मौजूदा स्थिति में 286 सीटें मिल सकती हैं। यानी बिहार में नीतीश के पालाबदल से उसे 21 सीटों का नुकसान हो सकता है। इसके अलावा यूपीए के खाते में 146 सीटें जा सकती हैं। इसके अलावा अन्य दलों के खाते में 111 सीटें जा सकती हैं। साफ है कि गैर-भाजपा और गैर-कांग्रेस दलों के खाते में भी इस बार के लोकसभा चुनाव में अच्छी खासी सीटें जा सकती हैं।

सर्वे में शामिल 40 फीसदी लोगों ने विपक्ष के तौर पर कांग्रेस के काम को अच्छा माना है, जबकि 34 फीसदी लोग कहते हैं कि उसका प्रदर्शन खराब रहा है। यही नहीं कांग्रेस के सुधार को लेकर भी लोगों ने अपनी राय जाहिर की है। 23 फीसदी लोग मानते हैं कि कांग्रेस को राहुल गांधी ही सुधार सकते हैं। इसके अलावा 16 फीसदी लोग इस भूमिका के लिए मनमोहन सिंह पर भरोसा जता रहे हैं। 14 फीसदी लोग ऐसे हैं, जो मानते हैं कि राजस्थान के सीनियर नेता सचिन पायलट कांग्रेस की स्थिति बेहतर कर सकते हैं। वहीं 9 फीसदी लोग ही मानते हैं कि प्रियंका गांधी की लीडरशिप में कांग्रेस में सुधार हो सकता है।