धोखाधड़ी के मामले आए दिन सामने आते हैं लेकिन क्या हो पुलिस के साथ ही धोखाधड़ी हो जाए। ऐसा मामला मेरठ जनपद में मोदीपुरम थाना क्षेत्र से सामने आया है। दरअसल, दरोगा बेटी की शादी हो ही रही थी। बारात भी आ चुकी थी लेकिन फेरे होने से पहले ही दुल्हे का पोल खुल गई है और दरोगा दुल्हे सहित पूरी बारात बंधी बना लिया है।

गांव में दरोगा की बेटी से शादी करने जा रहे युवक की पोल खुल गई। दूल्हे को सरकारी इंजीनियर बताया गया था, लेकिन बरात में पहुंचे कुछ लोगों ने बताया कि वह मजदूर है।
इसका पता चलते ही हंगामा हो गया। युवती पक्ष के लोगों ने युवक को बंधक बना लिया। सूचना पर पुलिस पहुंची। काफी हंगामे के बाद आयोजन पर हुए खर्च को लेकर दोनों पक्षों में समझौता हुआ।

यह भी पढ़ें- पुतिन की इस चेतावनी के बाद जेलेंस्‍की की छूटे पसीने, कहा- 'यूक्रेन का ये दर्जा खत्‍म'


थाना क्षेत्र के एक गांव के रहने वाले व्यक्ति ने अपने बेटे की शादी एक गांव के निवासी दरोगा की बेटी से तय की थी। युवती ने बीएड कर रखा है। लड़की पक्ष के लोगों को युवक को सरकारी इंजीनियर बताया था। लेकिन, शनिवार को जब बारात गांव में पहुंची तो पोल खुल गई। बरात में आए कुछ लोगों ने बताया कि दूल्हा सरकारी इंजीनियर नहीं बल्कि मजदूर है।

यह भी पढ़ें- 'कच्चा बादाम' सिंगर ने अपने ही एक्सीडेंट पर बना दिया शानदार सॉन्ग, यहां देखिए नया गाना

इसका पता चलते ही युवती पक्ष के लोगों ने दूल्हे समेत बरात को बंधक बना लिया। बाद में पुलिस पहुंची और घटना की जानकारी ली। काफी हंगामा होने के बाद दोनों पक्षों के गणमान्य लोगों ने लड़की पक्ष द्वारा खर्च हुए रुपये वापस करने का प्रस्ताव रखा। इस पर दोनों पक्षों में समझौता हो गया। पल्लवपुरम थाना पुलिस का कहना है कि किसी भी पक्ष से लिखित शिकायत नहीं मिली है।