जबलपुर के खितौला लखराम मोहल्ले में एक दिल दहला देने वाला हादसा सामने आया है. कुएं की पट्?टी पर बैठा 8 वर्षीय मासूम 126 फीट (8-year-old boy sitting on the bed of the well fell 126 feet deep) गहराई में गिर गया. चीख सुनकर पिता ने भी छलांग लगा दी. बेटे को उसने कुएं की गहराई से निकाला और पड़ोसियों की मदद से बाहर आकर उसे अस्पताल ले गया. मगर तब तक उसके कलेजे के टुकड़े की सांसें थम चुकी थी.

खितौला टीआई जगोतिन मसराम ने बताया कि वार्ड नंबर 13 निवासी ओम प्रकाश कुशवाहा का 8 वर्षीय बेटा समर्थ घर के पीछे महाकाली मंदिर के (100-year-old well near the Mahakali temple) पास 100 वर्ष पुराने कुएं के पास खेल रहा था. वह कुएं की पट्टी पर बैठा था. 

अचानक पीछे की ओर लुढ़क कर 126 फीट गहरे कुएं में गिर गया. चीख सुनकर आसपास के बच्चों ने दौड़ कर पिता ओमप्रकाश को बताया. वह दौड़ते हुए आया और कुएं में छलांग लगा दी. बेटे को जैसे-तैसे गहरे कुएं से निकाला.

पड़ोसियों ने पिता-पुत्र को एक घंटे की मशक्कत के बाद निकाला. पिता ओम प्रकाश कुशवाहा बेटे को लेकर सिहोरा अस्पताल पहुंचा. वहां डॉक्टरों ने मासूम को (Doctors declared the innocent dead) मृत घोषित कर दिया. दो बेटों में समर्थ छोटा था. इससे बड़ा बेटा रिषी 11 साल का है. 

मासूम की मौत से घर (chaos in the house due to the death of the innocent)  में कोहराम मचा हुआ है. शुक्रवार को मासूम का पीएम कराने के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया है. पिता हम्माली का काम करते हैं. बेटे की मौत से बदहवासी की हालत में पहुंच गए हैं.

मोहल्ले की शिवानी ठाकुर ने बताया कि यह काफी पुराना कुआं है. कई लोग गिर चुके हैं, लेकिन पहली बार किसी की मौत हुई है. अब कुएं के पानी का उपयोग कम हो गया है. खितौला प्रशासन की ओर से जाली आदि भी नहीं लगाई गई है. यहां शाम को मोहल्ले के बच्चे खेलते रहते हैं.