काले गोरे रंग का आज के समय में बहुत ज्यादा भेदभाव है। विज्ञापन भी क्रीमों के सिर्फ कलर फेयर करने का आता है। इसी रंग की वजह से एक महिला को अपनी जान गवांनी पड़ी है। दरअसल में बिहार के पटना से यह मामला सामने आया है। जहां सांवली सूरत ने शादी के महज 9 महीने बाद ही मौत दे दी।


यह भी पढ़ें- हिमंता बिस्वा को उम्मीद AGP भाजपा के साथ मिलकर लड़े चुनाव

यह वारदात पटना से सटे फुलवारी शरीफ इलाके की है। फुलवारी शरीफ के राष्ट्रीयगंज स्थित नवजीवन हॉस्पिटल में सुमन कुमार और उसकी पत्नी सुरभि कुमारी एक साथ रहकर काम करते थे। दोनों की शादी के समय से ही पति हमेशा सांवली सूरत होने का ताना देता था लेकिन सुरभि लगातार यह सहन कर रही थी। रंग की वजह से पति-पत्नी के बीच का विवाद इतना बढ़ गया कि पति ने सुरभि की हत्या कर दी।

यही नहीं हत्या करने के बाद उसके भाई चंदन कुमार को भी फोन कर बता दिया कि सुरभि की सांसे रुक गई है। घटना की सूचना मिलते ही चंदन कुमार भागलपुर से तुरंत फुलवारीशरीफ पहुंच गया और पुलिस की मदद से नवजीवन हॉस्पिटल में पहुंचा जहां अपनी बहन को पलंग पर मृत पाया।

पुलिस ने चंदन द्वारा मृतका सुरभि के पति सुमन कुमार पर हत्या का आरोप लगाया गया जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया और गिरफ्तार करने के बाद थाना ले आई। वहीं पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए पटना एम्स से भेज दिया है अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा कि आखिर इसकी