अखिल भारतीय दयानंद सेवाश्रम थांदला के 50 वर्ष पूर्ण होने पर तीन दिवसीय स्वर्ण जयंती महोत्सव का समापन रविवार को हो हुआ।  इस बार सम्मेलन में दाे राज्यों के राज्यपाल पहुंचे।  नागालैंड के राज्यपाल पीबी आचार्य शनिवार को आए थे, और  रविवार को सिक्किम के राज्यपाल गंगाप्रसाद पहुंचे।  अंतिम दिन सिक्किम राज्य के राज्यपाल गंगाप्रसाद मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए और सम्मेलन को संबोधित किया।  

उन्होंने कहा वेद ज्ञान विज्ञान का अद्भुत व अक्षय भंडार है। भारतीय संस्कृति के उच्चतम आदर्शों के माध्यम से जीवन को भेदभाव रहित व संपूर्ण मानव जाति व प्रकृति के साथ समन्वय बनाते हुए जीवन को आदर्श ढंग से जीने का विधान है। 

उन्होंने कहा झाबुआ जिले में आकर स्वयं को गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं। उन्होंने अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद व इस पुण्य भूमि को नमन किया। 

उन्होंने दयानंद आश्रम थांदला द्वारा किए जा रहे शिक्षा, स्वास्थ्य, सामाजिक न्याय के प्रकल्पों की प्रशंसा करते हुए स्वयं की ओर से 51 हजार रुपए आश्रम के बच्चों को भेंट किए। 

कार्यक्रम की शुरुआत में इससे पहले महामहिम को तीर कमान भेंट कर परंपरागत झुलड़ी पहनाई। संगीता सोनी ने महामहिम को चांदी का कड़ा भेंट किया।