उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में धार्मिक स्थल पर शर्मनाक घटनाक्रम सामने आया है, जिसमें एक इमाम ने मस्जिद में 8 साल की मासूम बच्ची  के साथ उस वक्त तक रेप किया, जब तक मासूम के प्राइवेट पार्ट से ब्लड नही आने लगा, दर्द से कराहती रोती बच्ची को इमाम ने कुरान की कसम भी खिलाते हुए कहा कि यह बात किसी को नही बताएगी. 

घर पहुंची मासूम को खून से लथपथ हालत में देख परिजन घबरा गए, जिन्हे पूछताछ में बच्ची ने घटनाक्रम की जानकारी दी, आक्रोशित परिजनों ने पुलिस को खबर देते हुए बच्ची को अस्पताल पहुंचाया, जहां पर मासूम को भरती कर उपचार किया जा रहा है. इधर पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए इमाम पर प्रकरण दर्ज कर हिरासत में ले लिया है.

बताया गया है कि किशनी थानाक्षेत्र के एक गांव की मस्जिद में जमील अहमद करीब 10 वर्ष से इमाम है, वे यहां पर बच्चों को इस्लामिक शिक्षा भी देते रहे, जहां पर बच्चे व बच्चियां पढऩे के लिए आते रहे. यहां पर दो दिन पहले पढ़ाई के बाद सभी बच्चे अपने घर जाने के लिए निकले तो जमील अहमद ने मासूम बच्ची को यह कहते हुए रोक लिया कि तुम रुको अभी तुम्हारी पढ़ाई खत्म नहीं हुई है, इसके बाद वह बच्ची को अलग कमरे में ले गया, जहां पर  जमील अहमद ने बच्ची के साथ रेप किया, बच्ची दर्द से तड़पती रोती रही लेकिन इमाम ने बच्ची को उस वक्त छोड़ा जब उसके प्राइवेर्ट पार्ट से खून की धार फूट गई. 

रोती बिलखती बच्ची घर जाने लगी तो उसे कुरान की कसम देकर चुप करा दिया और कहा कि किसी को यह बात नहीं बताना, रोज की तरह पढऩे के लिए आना नहीं तो किसी को शक हो जाएगा. बच्ची घर पहुंची तो उसकी हालत देख परिजन घबरा गए, शरीर पर खून से देख पूछा तो मासूम ने इमाम द्वारा किए गए कृत्य की जानकारी दी, जिससे परिजन आक्रोशित हो गए, उन्होने इमाम द्वारा किए घिनौने कृत्य की जानकारी पुलिस को दी, जिसपर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर इमाम को हिरासत में लेकर मासूम को उपचार के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां पर उसकी हालत को देखते हुए भरती कर लिया गया, वहीं घटना को लेकर गांव में लोगों के बीच आक्रोश व्याप्त रहा.