उत्तर प्रदेश के महोबा में शादी को लेकर दुल्हन का एक अगल ही रूप देखने को मिला है। दुल्ह न ने द्वारचार, जयमाल और चढ़ावे की रस्म  के बाद सात फेरों के लेने के दौरान शादी से मना कर दिया। हैरानी की बात तो यह है कि दुल्हन ने तब शादी से इनकार किया जब दुल्हरन ने छह फेरे ले लिए थे। सातवां फेरा बाकी था और दुल्हन शादी से इनकार कर दिया। जिससे हड़कंप मच गया।


गांव में शादी थी और दुल्हन के शादी से मुकर जाने से रात में ही पंचायत बुलाई गई, लेकिन तमाम प्रयासों के बाद भी बारात को बैरंग लौटना पड़ा। उत्तंर प्रदेश के महोबा में झांसी के कुलपहाड़ तहसील के एक गांव की यह घ टना है। इस दौरान दुल्ह न पक्ष ने बारातियों का जोरदार स्वागत किया, तो ढोल-नगाड़ों की थाप पर जमकर डांस करने वाले के बाद सबने खुशी से दावत  की।

शादी के दौरान जयमाल कार्यक्रम के बाद दुल्ह।न और दूल्हान के साथ खास रिश्तेदारों और दोस्तों ने खाना भी था, तो आधी रात को दूल्ह के पक्ष के लोगों ने जेवर चढ़ावे की रस्म को पूरा किया। इसके बाद मंडप के नीचे वैदिक मंत्रोच्चारण दूल्हा और दुल्हन अग्नि के फेरे ले रहे थे। यही नहीं, दोनों 6 फेरे पूरे कर चुके थे, लेकिन सातवें फेरे में दुल्हन रुक गई। दुल्ह न के माता और पिता उससे वजह पूछी तो उसने कहा कि मुझे दूल्हा पसंद नहीं है, इसलिए शादी नहीं करूंगी।