बिहार के गोपालगंज में प्रेम विवाह करने वाले एक जोड़े ने हनीमून की रात सुसाइड करने की कोशिश की। सात फेरे लेने के बाद सुहागरात को ही प्रेमी जोड़े ने जहर खाकर खुदकुशी करने का प्रयास किया। गंभीर हालत में नवदंपति को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से उन्हें गोरखपुर के लिए रेफर कर दिया गया। घटना मीरगंज थाना क्षेत्र की है। नवविवाहित जोड़े को इलाज कराने लेकर आये परिजन भी इस घटना से सन्न हैं।

परिजनों ने पुलिस को बताया कि जमशेदपुर के सोनाटे थाना क्षेत्र की रहने वाली 28 वर्षीय शांति देवी ने गोपालगंज के मीरगंज शहर के रहनेवाले चंद्रिका सिंह के 30 वर्षीय पुत्र मुकेश कुमार सिंह से शनिवार को थावे मंदिर में शादी की थी। शादी के बाद रविवार को घर पर बहुभोज था। बहुभोज में सगे-संबंधियों और रिश्तेदारों को खिलाने के बाद पति-पत्नी सोने चले गए, लेकिन सुहागरात को ही दोनों ने जहर खा लिया। सदर अस्पताल में प्रेमी जोड़ों को लेकर आये परिजनों के मुताबिक चिकेन में जहर मिलाकर दोनों ने खा लिया था।

जहर खाने की वजह क्या है, इसकी जानकारी किसी को नहीं हो सकी है। बताया जाता है कि कमरे में दोनों को बेहोशी की हालत में देखा गया, जिसके बाद उन्‍हें आनन-फानन में इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया। रात में इमरजेंसी वार्ड के चिकित्सक ने दोनों का इलाज किया। उसके बाद इस घटना की जानकारी नगर थाने की पुलिस को दी गयी। पुलिस के आने की सूचना पर परिजन दोनों को लेकर बेहतर इलाज कराने के बहाने फरार हो गये।

डॉक्टरों के मुताबिक, परिजनों ने जहर खाने के बाद उल्टी कराने के लिए नवदंपति को सर्फ का पानी पिलाया था। उसके बाद भी हालत में सुधार नहीं हुआ। तब परिजन दोनों को इलाज कराने के लिए सदर अस्पताल पहुंचे थे। इस मामले में सदर अस्पताल के पुलिस पदाधिकारी बीएन राय ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। दोनों प्रेमी जोड़े बेहोशी हालत में थे इसलिए पूछताछ नहीं की जा सकी।