छतरपुर (एमपी). जब भी हम कोई सामान होटल या रेस्टोरेंट से पैक कराते हैं तो इसके साथ कुछ डिस्पोज़ेबेल बर्तन भी दिए जाते हैं, ताकि वो आराम से इसे खा सकें. हालांकि समोसा, कचौरी और पकौड़ों के साथ ऐसे बर्तन नहीं मिलते हैं, क्योंकि ये आराम से चम्मच-कटोरी के बिना भी खाए जा सकते हैं. ये बात ये सामान्य आदमी तो समझ सकता है, लेकिन मध्य प्रदेश के एक युवक को ये नियम नहीं भाया.

यह भी पढ़े :  गूगल डूडल टुडे: गूगल ने भूपेन हजारिका को किया याद , डूडल बनाकर दी श्रद्धांजलि 


मध्यप्रदेश में लोगों की सुविधा के लिए बनाए गए सीएम हेल्पलाइन नंबर पर एक शख्स का फोन इसलिए आया क्योंकि उसे दुकानदार ने समोसे के साथ कटोरी और चम्मच पैक करने के लिए इनकार कर दिया था. उसके बाद ग्राहक ने दुकानदार की शिकायत कहीं और नहीं, सीधा सीएम के दफ्तर में की है. ये मामला इस वक्त मीडिया और सोशल प्लेटफॉर्म्स पर जमकर सुर्खियां बटोर रहा है.

यह भी पढ़े : Aaj ka rashifal September 8 : इन राशि के लोगों के लिए आज का दिन हानिकारक, आर्थिक स्थिति खराब हो


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ये मामला मध्यप्रदेश के छतरपुर जि़ले का है. यहां एक लोकप्रिय समोसे की दुकान से वंश बहादुर नाम के एक युवक ने समोसा पैक करवाया. आमतौर पर समोसे के साथ कटोरी और चम्मच दुकान पर नहीं पैक किया जाता है. जब युवक ने बिना कटोरी-चम्मच के समोसा पैक होते देखा तो उसे इतना गुस्सा आया कि उसने सीएम शिवराज सिंह चौहान की ओर से जारी की गई हेल्पलाइन पर फोन घुमा दिया. ये मामला 30 अगस्त का बताया जा रहा है.

यह भी पढ़े :  Pradosh Vrat : गुरु प्रदोष व्रत आज, विधि- विधान से करें भगवान शंकर की पूजा, जानिए शुभ मुहूर्त


शिकायत पर यह हुआ

इस शख्स ने बाकायदा शिकायत में कहा -छतरपुर में राकेश समोसा नाम की एक दुकान बस स्टॉप पर है. यहां जो भी समोसा पैक कराता है, उसके साथ में कटोरी-चम्मच नहीं दिया जाता. इस समस्या का जितनी जल्दी हो सके, उतनी जल्दी समाधान दें. उस वक्त युवक की ये शिकायत दर्ज कर ली गई. हालांकि 5 दिन के बाद इस शिकायत को ये कहकर क्लोज़ कर दिया गया कि ये सीएम हेल्पलाइन पोर्टल से संबंधित नहीं है.