मोदी सरकार के मंत्रीमंडल विस्तार से पहले केंद्र सरकार ने कई राज्यों में राज्यपाल की नई नियुक्तियां की हैं. नए राज्यपालों की नियुक्तियों में सबसे अहम उन लोगों के नाम हैं जो मौजूदा समय में मोदी सरकार में मंत्री थे।  लेकिन अब उन्हें राज्यपाल नियुक्त किया जा रहा है। ऐसे नामों में थावरचंद गेहलोत हैं जिन्हें केंद्रीय मंत्री से हटाकर कर्नाटक का राज्यपाल नियुक्त किया गया है। 

थावरचंद गेहलोत को मोदी सरकार के मंत्रीमंडल में दलित चेहरे के तौर पर देखा जाता रहा है, लेकिन अब उनकी राज्यपाल के तौर पर नियुक्ति हुई है और ऐसी मजबूत संभावना है कि मोदी सरकार के मंत्रीमंडल में किसी नए दलित चेहरे की एंट्री हो सकती है। 

थावरचंद गेहलोत की कर्नाटक के राज्यपाल की नियुक्ति के अलावा सरकार ने कई राज्यों के राज्यपाल भी बदले हैं।  सरकार ने भंडारू दत्तात्रेय को हरियाणा का गवर्नर नियुक्त किया है, अब तक वे हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल थे।  इसके अलावा सत्यदेव नारायण आर्य का तबादला त्रिपुरा के गवर्नर के तौर पर हुआ है।  पीएस श्रीधरन पिल्लई को अब गोवा का राज्यपाल नियुक्त किया गया है, राजेंद्रन विश्वनाथ अर्लेकर को हिमाचल प्रदेश का राज्यपाल नियुक्त किया गया है, मंगूभाई चांगभाई पटेल को मध्य प्रदेश का राज्यपाल तथा हरि बाबू को मिजोरम का राज्यपाल नियुक्त किया गया है।