जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले से एक आतंकवादी को हथियार और गोला-बारूद के साथ गिरफ्तार किया गया है। इसकी जानकारी अधिकारियों ने सोमवार को दी। अधिकारियों ने बताया कि डोडा पुलिस ने सुरक्षा बलों के साथ मिलकर एक आतंकवादी फरीद अहमद को गिरफ्तार किया। उसके पास से एक चाइनीज पिस्तौल, दो मैगजीन, 14 जिंदा कारतूस और एक मोबाइल फोन बरामद किया है। आतंकी कोटी डोडा का निवासी बताया जा रहा है।

ये भी पढ़ेंः उद्धव ठाकरे को एक और झटका: महाराष्ट्र के उच्च शिक्षा मंत्री उदय सामंत भी शिंदे कैंप में हुए शामिल


पुलिस ने कहा, अमरनाथ यात्रा के चलते सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। इसके तहत पुलिस थाना डोडा के एक पुलिस टीम ने शहर के बाहरी इलाके में नाकाबंदी की, हथियार और गोला-बारूद ले जा रहे एक युवक को रोका। पुलिस ने बताया, आरोपी को हिरासत में ले लिया गया। पता चला है कि फरीद अहमद को मार्च के महीने में एक संदिग्ध से हथियार और गोला-बारूद मिला था और उसे डोडा में पुलिस कर्मियों पर हमला करने का काम सौंपा गया था। पुलिस ने कहा कि समय पर इस नापाक साजिश को नाकाम कर दिया गया। स्थानीय पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

ये भी पढ़ेंः एमपी निकाय चुनाव : कांग्रेस की महिला प्रत्याशी अचानक घर से गायब, चर्चा है कि वह प्रेमी के साथ भाग गई


वहीं दूसरी तरफ जम्मू के रणबीर सिंह पुरा सेक्टर में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के चौकस जवानों ने सोमवार तड़के अंतरराष्ट्रीय सीमा पर एक पाकिस्तानी घुसपैठिए को मार गिराया। बीएसएफ के प्रवक्ता ने बताया कि आज सुबह हमारे सैनिकों ने बकारपुर सीमा चौकी क्षेत्र में बाड़ के पास संदिग्ध गतिविधियां देखी। उन्होंने कहा कि हमारे गश्ती दल ने रात में पाकिस्तान की ओर से एक व्यक्ति को बाड़ को पार करने के इरादे से संदिग्ध गतिविधि करते हुए देखा। इस पर गश्ती दल ने उसे रूकने की चेतावनी दी लेकिन उसने चेतावनी की परवाह किए बिना बाड़ की ओर बढ़ना जारी रखा। प्रवक्ता ने बताया कि इसके बाद हमारे पास कोई विकल्प नहीं बचा और सैनिकों ने उस पर तीन राउंड गोलियां चलाईं, जिसके कारण वह मारा गया। उन्होंने कहा कि सुबह तलाशी दल को इलाके की जांच के दौरान बाड़ के पास उस घुसपैठिए का शव मिला। उन्होंने बताया कि मृतक के पास कुछ भी बरामद नहीं हुआ। शव को पुलिस को सौंपा दिया है।