अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में शुक्रवार सुबह बड़ा धमाका हुआ, जिसमें 32 लोगों की मौत हो गई। वहीं 40 लोग इस बम धमाके में घायल बताए जा रहे हैं। शुरुआती रिपोर्ट के अनुसार मृतकों में ज्यादातर स्कूली छात्र थे। हमला पश्चिमी काबुल के दश्ते बरची में स्थित एक शैक्षिक संस्थान पर हुआ है। दावा किया जा रहा है कि इसे इस्लामिक स्टेट-खुरासान प्रांत ने अंजाम दिया है कि जिसमें ज्यादातर हजारा और शिया समुदाय के लोगों को निशाना बनाया गया।

ये भी पढ़ेंः रूस आज करेगा पूरी दुनिया को झटका देने वाला काम, छिड़ सकता है तीसरा विश्‍व युद्ध


तालिबान के प्रवक्ता खालिद जादरान ने कहा कि पीड़ितों में हाई स्कूल से लेकर स्नातक, दोनों लड़कियां और लड़के शामिल हैं, जो यूनिवर्सिटी में प्रवेश परीक्षा दे रहे थे, जब विस्फोट हुआ। उन्होंने कहा कि वह शुक्रवार को ऐसे शैक्षणिक केंद्रों के लिए अतिरिक्त सुरक्षा की मांग करेंगे, जिनको टारगेट किया जा रहा है।

ये भी पढ़ेंः गजबः 2 फुट तक भरा हो पानी फिर भी फर्राटे से दौड़ेगी वंदे भारत एक्सप्रेस, जानिए इसकी खूबियां


शैक्षिक संस्थान के एक सदस्य के हवाले से अफगान पत्रकार ने कहा कि लड़के और लड़कियां एक बड़े क्लासरूम में पढ़ रहे थे। उन्हें तालिबान की ओर से अनिवार्य एक पर्दे से अलग-अलग किया गया था। उन्होंने कहा कि एंबुलेंस ने घायलों को इलाके के कम से कम चार अस्पतालों में पहुंचाया है। अली जिन्ना हॉस्पिटल के एक डॉक्टर के हवाले से बताया गया कि फिलहाल और घायलों को अस्पताल में भर्ती नहीं किया जा सकता। लोगों से रक्तदान की अपील की जा रही है।