अफगानिस्तान में कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच एक बहुत ही दर्दनाक घटना हुई है। अफगानिस्तान के एक अस्पताल पर आतंकियों ने हमला कर दिया, जिसमें कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई है। इनमें 2 बच्चे भी शामिल थे। भारत ने इस संकट भरी घड़ी में आतंकियों का ऐसा करने पर, कड़ी भर्त्सना की है। इसके साथ ही भारत ने इसे महिलाओं और बच्चों सहित निर्दोषों के विरुद्ध ‘बर्बर’ कृत्य करार दिया।


आतंकवादियों ने काबुल के एक जच्चा-बच्चा अस्पताल पर हमला किया, जिसमें दो नवजात शिशु और उनकी मां के साथ-साथ 14 लोगों की मौत दर्दनाक मौत हो गई। एक अन्य हमले में आत्मघाती हमलावर ने नानगहर प्रांत में एक मृतक के अंतिम संस्कार को निशाना बनाया, जिसमें कम से कम 24 लोगों की जान चली गई और 68 अन्य घायल हो गए हैं। जानकारी के लिए बता दें कि यह इस्लामिक स्टेट संगठन की सक्रियता वाला क्षेत्र है।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत-अफगानिस्तान में शांति एवं स्थिरता लाने के उसके प्रयासों में वहां के लोगों, सुरक्षाबल और सरकार के साथ एकजुटता से खड़ा है। इसी के साथ उन्होंने कहा कि मृतकों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं।  उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि आतंकवादी हिंसा पर तुरंत रोक लगनी चाहिए।