गोरखनाथ मंदिर पर हमले का आरोपी अहमद मुर्तजा अब्बासी यूपी एटीएस की पूछताछ में बड़े-बड़े खुलासे कर रहा है। मुर्तजा का आतंकी संगठन ISIS के साथ कनेक्शन सामने आ चुका है। अब इस बीच उसका कबूलनामा आया है। एटीएस की कड़ी पूछताछ में आरोपी मुर्तजा ने कई राज खोले हैं। उसने कहा कि मुसलमानों को दबाया जा रहा है। उसने जांच अधिकारियों को बताया कि वो टैंपो से गोरखपुर पहुंचा था। वो खुरपी और दूसरे कुछ सामान साथ लाया था। पूछताछ में उसने ये भी बताया कि सोचा था कि काम तमाम करके चले जाएंगे।

यह भी पढ़ें : लापरवाह कर्मचारियों पर अब गिरेगी गाज, सिक्किम सरकार बना रही नॉन परफोर्मिंग विभाग

पुलिस के अनुसार मुर्तजा एक व्हाट्सएप ग्रुप भी चलाता था जिसमें करीब 200 लोग शामिल थे। अब एटीएस की टीम ने ग्रुप के सदस्यों की पड़ताल कर उनकी धरपकड़ की शुरुआत कर दी है। इस सिलसिले में कानपुर, नोएडा, संभल और शामली समेत कई शहरों में जांच शुरू हो गई है। उस व्हाट्सएप ग्रुप के 15 से ज्यादा सदस्यों के मोबाइल फोन, लैपटॉप और बैंक डिटेल भी खंगाले जा रहे हैं। इस बीच खबर है कि मुर्तजा से पूछताछ करने के लिए एनआईए और आईबी के अधिकारियों ने एटीएस से संपर्क किया है।

यह भी पढ़ें : गांजा की सप्लाई में तगड़े माहिर हैं नागालैंड के तस्कर, जानिए कैसे पहुंचाते हैं बिहार

गोरखनाथ मंदिर में दाखिल होने की कोशिश के दौरान जब वहां तैनात जवानों ने उसे रोका तो उसने धारदार हथियार से पीएसी के दो जवानों को घायल कर दिया था। बता दें कि गोरखनाथ मंदिर परिसर में मंदिर के महंत और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आवास भी है। हालांकि हमले के वक्त वह मंदिर परिसर में मौजूद नहीं थे।