कश्मीर के त्राल जिले में धमकी भरे पोस्टर चिपकाकर आतंकी बिल में छुपे हुए थे जिनको पुलिस 72 घंटों में पकड़ लिया। इसी के साथ ही जम्मू-कश्मीर पुलिस के हाथ बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। हालिया कार्रवाई में पुलिस की एक टीम ने त्राल जिले के सीर और बटागुंड में धमकी भरे पोस्टर लगाने के मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। मामला सामने आने के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए कार्रवाई शुरू की थी।

गिरफ्तार आतंकियों के सहयोगियों की पहचान जहांगीर अहमद पर्रे, ऐजाज अहमद, तौसीफ अहमद लोन, सबजार अहमद भट और कैसर अहमद डार के रूप में हुई है। उक्त आतंकियों के सभी सहयोगी त्राल के रहने वाले हैं। पोस्टरों के बाद इलाके में दहशत पैदा हो गई थी। पुलिस ने मामले की जांच की और कुछ संदिग्ध तत्वों की निशानदेही के बाद इन्हें धर दबोचा।

72 घंटों के भीतर गिरफ्तारी
कश्मीर में त्राल क्षेत्र के सीर और बटागुंड गांवों में 13 जनवरी को आतंकी संगठन के धमकी भरे पोस्टर चिपकाए गए थेण् मामला संज्ञान में आते ही पुलिस ने कार्रवाई शुरू की थी। इसी सिलसिले में जिले और आस-पास ताबड़तोड़ छापेमारी की गई और संदिग्धों को हिरासत में लिया गया। इन पोस्टर्स में  पर कश्मीर में जारी आतंकी गतिविधियों को नुकसान पहुंचाने सुरक्षाबलों का मुखबिर होने और गैर इस्लामिक कार्य करने का आरोप लगाते हुए धमकी दी गई थी।

संदिग्धों से पूछताछ और अन्य सबूतों के साथ आतंकवादियों के इन पांच सहयोगियों को धमकी भरे पोस्टर चिपकाने के मामले में आरोपी पाया गया। पुख्ता सबूत मिलते ही इन्हे गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने त्राल जिलें में हुई वारदात को लेकर कई धाराओं में एफआईआर दर्ज की थी। वहीं मामले में आगे की जांच जारी है।