कोल्हापुर। दसवां अखिल भारतीय हिंदू राष्ट्र सम्मेलन, हिंदू राष्ट्र के कामकाज की नीति तय करने के लिए 12 से 18 जून तक गोवा के फोंडा स्थित रामनाथ देवस्थान में आयोजित किया जाएगा। 

गुजरात, पश्चिमी महाराष्ट्र और कोकण क्षेत्र के लिए हिंदी जनजागृति समितियों (एचजेएस) के समन्वयक मनोज खड़े ने मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सम्मेलन की अनूठी विशेषता यह होगी की इस वर्ष हिंदू राष्ट्र संसद (हिंदू राष्ट्र सभा) का तीन दिन का आयोजन होने जा रहा है। 

यह भी पढ़े : Aaj ka Rashifal 7 जून:  इन राशि वालों के लिए जोखिम भरा दिन, ये लोग तांबे की वस्तु का करें दान

यह सरकार के आदर्श कामकाज को सुनिश्चित करने के लिए उपस्थित लोगों का मार्गदर्शन करेगा। खड़े ने कहा कि संसद 'हिंदू राष्ट्र की स्थापना के लिए संसदीय और संवैधानिक तरीके' जैसे विषयों पर विशेषज्ञों द्वारा विस्तृत चर्चा करेगी। 

अमेरिका, ब्रिटेन, हांगकांग, सिंगापुर, फिजी, नेपाल के साथ-साथ भारत के 26 राज्यों के 350 से अधिक हिंदू संगठनों के 1000 से अधिक प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है। 

यह भी पढ़े : Vastu Tips: इस दिन तुलसी के पौधे में नहीं चढ़ाना चाहिए जल, नाराज हो सकती हैं मां लक्ष्मी

अधिवेशन के दौरान, मुख्य रूप से विभिन्न विषयों जैसे 'काशी (वाराणसी) में ज्ञानवापी मस्जिद', 'मथुरा मुक्ति आंदोलन', 'पूजा स्थल अधिनियम', 'कश्मीरी हिंदुओं की हत्या', 'ध्वनि प्रदूषण के कारण, मस्जिदों में लाउडस्पीकर से 'ध्वनि प्रदूषण' पर चर्चा होगी।