असम-नागालैंड की सीमा पर स्थित दीमापुर जिले के रिलान गांव में लगातार दूसरे दिन बुधवार को भी तनाव व्याप्त रहा। मंगलवार को अज्ञात वर्दीधारी लोगों के गांव में घुसने के बाद विवाद उत्पन्न हो गया था।


ग्रामीणों का आरोप है कि मंगलवार को दिन में असम पुलिस के जवान दो वाहनों में सवार होकर गांव में घुस गये थे। सूत्रों के मुताबिक बुधवार को असम पुलिस के जवानों ने फिर से गांव में अद्र्धनिर्मित दीवार को गिराने का प्रयास किया।


इस निर्माण का गत 18 जून को असम पुलिस और असम वन विभाग के कर्मियों ने विरोध किया था। इस दीवार का निर्माण मंगलवार को तब रोक दिया गया था, जब असम की पुलिस, वन विभाग और पूर्वी कार्बी आंगलोंग जिला प्रशासन ने आंशिक रुप से इसके निर्माण को यह कहते हुए तोड़ दिया था कि जमीन असम के हिस्से का है तथा यह संरक्षित दलदली वन उद्यान के अधीन है।


ग्रामीणों ने मंगलवार की घटना को सोमवार की घटना की पुनरावृत्ति बताते हुए कहा कि ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि रिलान ग्राम परिषद के सदस्य उस दिन दीमापुर स्थित उपायुक्त कार्यालय में थे।


परिषद सदस्य 18 जून की घटना की नागालैंड सरकार के समक्ष औपचारिक शिकायत दर्ज कराने गये थे।