पाकिस्तान में एक बार फिर हिंदुओं की दुर्दशा दुनिया के सामने आई है. पाक के पंजाब प्रांत में मुस्लिमों की भीड़ ने हिंदुओं के मंदिर पर हमला कर दिया वहां मौजूद मूर्तियों से भी तोड़फोड़ की. हालात इतना बेकाबू हो गया था कि पुलिस भी मूक दर्शक बनी रही अंत में स्थिति को काबू करने के लिए पाकिस्तानी रेंजर्स को बुलाना पड़ा. पाकिस्तान में धार्मिक स्थल पर हमले तोड़फोड़ को लेकर भारत ने गुरुवार को विरोध जताया है.

पाकिस्तान में मंदिर तोड़े जाने के मामले में भारत ने पाकिस्तान के राजनयिकों को तलब कर विरोध जताया है. भारत ने कहा कि पाकिस्तान सरकार हिंदुओं को सुरक्षा देने में फेल साबित हो रहा है. आपको बता दें कि पाकिस्तान पुलिस ने बताया है कि बुधवार को मुस्लिमों की भीड़ ने मंदिर पर हमला किया था. रहीम यार खान जिले के भोंग शहर का यह मामला है, जोकि लाहौर से लगभग 590 किमी दूरी पर स्थित है. पुलिस के अनुसार, भीड़ ने कथित तौर पर एक मदरसे के अपमान का बदला लेने को मंदिर में तोड़फोड़ की.

भोंग शहर में हिंदू दशकों से शांतिपूर्वक ढंग से रह रहा है. पिछले हफ्ते एक आठ साल के हिंदू बच्चे ने कथित तौर पर मदरसे की लाइब्रेरी में पेशाब कर दिया था. इसके बाद पूरे क्षेत्र में तनाव की स्थिति बन गई थी.

इसके बाद सत्ताधारी पाकिस्तानी तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के सांसद डॉ. रमेश कुमार वंकवनी ने बुधवार को इस हमले का वीडियो ट्वीट कर पुलिस से तुरंत मौके पर पहुंचने को कहा था. उन्होंने सिलसिलेवार किए कई ट्वीट में कहा कि भोंग शहर में हिंदू मंदिर पर हमला किया गया है. यहां बुधवार से स्थिति काफी तनावपूर्ण है. स्थानीय पुलिस की ओर से की गई लापरवाही शर्मनाक है.