तेलंगाना में दो अलग-अलग घटनाओं में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर और एक सरकारी टीचर ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। शेयर बाजार में नुकसान झेलने के बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियर जी. लक्ष्मीनारायण (37) ने यह कदम उठाया। उसने हैदराबाद के पास संगारेड्डी जिले के अमीनपुर में अपने घर पर फांसी लगा ली।

ये भी पढ़ेंः गठबंधन से अगल होते ही भाजपा पर भड़क रहे हैं नीतीश कुमार, अब ED और CBI को लेकर कह दी ऐसी बात


जानकारी के मुताबिक, जी. लक्ष्मीनारायण खम्मम जिले के गोलापाडु का रहने वाले था। वह हैदराबाद में एक सॉफ्टवेयर फर्म में काम करता था। उसने अपने बीमार पिता के इलाज के लिए गांव में पारिवारिक संपत्ति बेच दी थी। पुलिस को जांच में पता चला कि लक्ष्मीनारायण ने 20 लाख रुपये शेयर बाजार में निवेश किए थे, लेकिन उसे भारी नुकसान हुआ। इससे दुखी होकर उसने खुदकुशी कर ली। पुलिस ने मामला दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी है।

ये भी पढ़ेंः हजारों मुकदमों से उड़े जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी के होश, अब आपके बच्चों के लिए नहीं बेचेगा बेबी पाउडर


वहीं, एक अन्य घटना में, सूर्यापेट जिले में एक सरकारी टीचर जी नरेंद्रबाबू (55) ने भारी कर्ज के चलते आत्महत्या कर ली। वह ऑनलाइन सट्टेबाजी में काफी पैसे हार गया था। नरेंद्रबाबू की पत्नी भी एक सरकारी कर्मचारी हैं। उसने बताया कि उनके पति ने कथित तौर पर 10 करोड़ रुपये का कर्ज लिया था। लेकिन परिवार के सदस्यों को यह नहीं पता कि वह पैसे कहां खर्च किए गए। हालांकि, उसके दोस्तों को शक है कि उसने ऑनलाइन सट्टेबाजी में पैसे गंवाए हैं।