नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी को लेकर राजद ने शनिवार को बिहार बंद का आह्वान किया है। बंद को सफल बनाने के लिए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के नेतृत्व में पूर्व संध्या पर शुक्रवार को मशाल जुलूस निकाला गया। जुलूस के पहले पत्रकारों से बात करते हुए नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून एक काला कानून है।


इसका विरोध हर स्तर पर पार्टी करेगी। साथ ही, एनअरसी का भी विरोध संसद से सड़क तक होगा। बिहार बंद शांतिपूर्ण होगा। आवश्यक सेवाओं को इससे वंचित रखा गया है। कार्यकर्ताओं को भी इस दौरान शांति बनाये रखने की अपील की। साथ ही कहा कि अगर कार्यकर्ताओं पर पर सरकार ने बल प्रयोग किया तो इसका अंजाम और बुरा होगा।


नेता प्रतिपक्ष आयकर गोलम्बर तक जुलूस के साथ गये। उनके साथ प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, अब्दुलबारी सिद्दिकी, शिवानंद तिवारी, रघुबंश सिंह, कांति सिंह और शिवचन्द्र राम भी थे। चितरंजन गगन ने बताया कि बंद को लेकर राजद कार्यकर्ताओं ने राज्यभर में मसाल जुलूस निकाला। बंद ऐतिहासिक होगा। उधर रालोसपा कार्याकर्ताओं ने भी मशाल जुलूस निकालकर बंद सफल करने की अपील की। प्रदेश प्रवक्ता भोला शर्मा ने बताया कि जुलूस में निर्मल कुशवाहा, बबन यादव, जीतेन्द्र नाथ और ई अभिषेक झा भी थे।