बिहार में कुशेश्वरस्थान और तारापुर विधानसभा क्षेत्रों में हुए उपचुनाव (Bihar by election) में सत्ता पक्ष राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की जीत और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की हार के बाद भले ही राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद (Lalu Prasad yadav) और उनके पुत्र तेजस्वी यादव (tejashwi yadav) दिल्ली चले गए हों, लेकिन पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव पटना में हैं।

इसी दौरान पटना की सड़कों में लगा एक पोस्टर चर्चा का विषय बना हुआ है, जिसमें तेजस्वी (tejashwi yadav) को अर्जुन और तेजप्रताप (tej pratap yadav) को भगवान कृष्ण की भूमिका में दिखाया गया है। पटना की सड़कों पर यह पोस्टर किसने लगाया, इसका उल्लेख इस पोस्टर में नहीं हैं, लेकिन सड़कों पर आने-जाने वाले लोगों के लिए यह पोस्टर आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। शनिवार की सुबह देखे गए इस पोस्टर में तेजप्रताप भगवान कृष्ण की भूमिका (Tejpratap in role of Lord Krishna) में दिखाई दे रहे हैं, जबकि तेजस्वी यादव अर्जुन बने मछली की आंख देखकर तीर चलाते नजर आ रहे हैं। पोस्टर में लालू प्रसाद भी दिखाई दे रहे हैं।

तेजस्वी यादव मछली की आंख पर निशाना साधते नजर आ रहे हैं। हालांकि इस दौरान वे कृष्ण रूपी तेजप्रताप से कह रहे हैं, हमको तो मछली दिख नहीं रहा है, जिस पर कृष्ण बने तेजप्रताप पोस्टर में कहते हैं, अहंकार से मुक्त होकर देखो पार्थ। इसी पोस्टर में लालू प्रसाद और जनता की फोटो भी दिखाई दे रही है, जहां जनता पूछ रही है कि आप हमारे हैं कौन। पोस्टर के सबसे उपर लिखा गया है, आप हमारे हैं कौन ? नकली अर्जुन का मछली की आंख से चूका निशाना। नकली कृष्ण ने धरा मौन, जनता ने उपचुनाव में लालू से पूछा आप हमारे हैं कौन। उल्लेखनीय है कि दोनों भाइयों तेजप्रताप और तेजस्वी यादव का विवाद इन दिनों सार्वजनिक रूप से नजर आ रहा है। राजद के उपचुनाव हारने के बाद भी तेजप्रताप ने कई नेताओं को हार का कारण बताया था। वैसे, यह पोस्टर किसने लगाया, इसका पता नहीं चल पाया है, लेकिन इसे राजद के आतंरिक गुटबाजी के तौर पर देखा जा रहा है।