कुशेश्वर स्थान विधानसभा उपचुनाव (kusheshwar seat assembly by-election) में जदयू उम्मीदवार अमन हजारी (JDU candidate Aman Hazari) ने राजद के गणेश भारती (Ganesh Bharti) को 12,698 मतों के अंतर से हराया। परिणाम घोषित होने के बाद पटना में जदयू कार्यालय में खुशी मनाई गई और नेतागण खुशी से झूम उठे। हजारी को 59,882 वोट मिले जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी गणेश भारती को केवल 47,148 वोट ही मिले। लोजपा (रामविलास) की अंजू देवी (Anju devi) को 5,623 वोट मिले, जबकि कांग्रेस उम्मीदवार अतीरेक कुमार को केवल 5,602 वोट मिले।

लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने हार के लिए राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह (Jagdanand Singh), राजद उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी, वरिष्ठ राजद नेता सुनील सिंह और अन्य सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को जिम्मेदार ठहराया। तेज प्रताप (Tej Pratap Yadav) ने कहा, इन नेताओं ने तेजस्वी यादव को पार्टी के नेता के रूप में पेश किया है और उन्होंने सभी को इसमें शामिल नहीं किया। वे मेरे बीमार पिता को चुनाव प्रचार में ले गए। अगर हमें लडऩा है, तो हमें इसे एक साथ लडऩा होगा।

तेज प्रताप (Tej Pratap Yadav) ने आगे कहा, हम लंबे समय से कांग्रेस पार्टी के साथ गठबंधन में थे। मेरे पिता हमेशा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से बात करते हैं। उन्होंने इस उपचुनाव के दौरान भी उनसे बात की थी। हमने बिहार में हमेशा कांग्रेस पार्टी को अपने साथ लिया है। उन्होंने कहा, जगदानंद सिंह, सुनील सिंह, संजय सिंह जैसे नेता हार के लिए जिम्मेदार हैं। शिवानंद तिवारी जैसे लोग हमें हराने के लिए हमारी पार्टी में आते हैं। उनकी विफलता के कारण, मेरा छोटा भाई चुनाव हार गया। मैं समझ सकता हूं कि वह इस समय किस तरह के दर्द से गुजर रहे हैं।